प्रौद्योगिकी

Remove China Apps हुआ 50 लाख से ज्यादा बार डाउनलोड, जानें इसके पीछे का कारण

Remove China Apps, एक एंड्रॉयड ऐप है जो आपके एंड्रॉयड फोन में मौजूद चाइनीज़ ऐप्स को पहचानने और उन्हें हटाने का काम करती है। यह ऐप भारत में तेज़ी से वायरल हो रहा है। इसके पीछे भारत में चल रहा Boycott China ट्रैंड है। कल ही हमने रिपोर्ट किया था कि यह ऐप भारत में काफी लोकप्रियता हासिल करता जा रहा है और अब नई रिपोर्ट के अनुसार, यह ऐप फिलहाल देश में Google Play की टॉप फ्री ऐप्स की लिस्ट में सबसे ऊपर पहुंच गया है। दिलचस्प बात यह है कि ऐप को 17 मई को लॉन्च होने के बाद से अब तक 50 लाख से अधिक बार डाउनलोड किया जा चुका है। यह साफ अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि इसे भारत-चीन सीमा विवाद और दुनियाभर में चल रही कोरोनवायरस महामारी जैसे मुद्दों ने चिंगारी दी है। इन्हीं मुद्दों की वजह से एक अन्य ऐप ‘Mitron’ भी पिछले कई दिनों से चर्चा का विषय बना हुआ है और इसे भारत में टिकटॉक के विकल्प के रूप में तेज़ी से अपनाया जा रहा है।

 

क्या है Remove China Apps और यह कैसे करती है काम?

जैसा कि हमने बताया ‘रिमूव चाइना ऐप्स‘ को दिन दुगनी रात चौगनी लोकप्रियता मिल रही है। ऐप को 17 मई को लॉन्च किया गया था और इसे अभी तक 50 लाख से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है। यह ऐप मुफ्त में Google Play Store पर डाउनलोड के लिए उपलब्ध है। यह ऐप बिना लॉग-इन मांगे ही काम करती है। इसमें यूज़र को बस अपने एंड्रॉयड डिवाइस में चीन द्वारा निर्मित ऐप की पहचान करने के लिए “scan” को चुनना होता है और ‘Remove China Apps’ ऐप फोन में चीनी डेवलपर्स द्वारा बनाई गई ऐप्स को पहचान लेता है और उन्हें हटाने का विकल्प भी देता है।

गौर करने वाली बात यह है कि यह ऐप केवल उन्हीं ऐप्स की पहचान करता है, जिन्हें यूज़र्स द्वारा गूगल प्ले स्टोर या फिर अन्य थर्ड पार्टी ऐप स्टोर से अपने एंड्रॉयड डिवाइस में इंस्टॉल किया गया है। जो चीनी ऐप्स आपके स्मार्टफोन में प्री-इंस्टॉल आए थे, उनकी पहचान यह ऐप नहीं करता।

गौरतलब है कि Remove China Apps को OneTouch AppLabs द्वारा बनाया गया है, जो केवल गूगल प्ले स्टोर पर लिस्ट है। दावा किया गया है कि OneTouch AppLabs जयपुर स्थित कंपनी है, जिसकी वेबसाइट 8 मई को बनाई गई थी।

 

Remove China Apps क्यों हो रहा है लोकप्रिय?

यह ऐप ऐसे समय पर आया है, जब देश में चीन विरोधी भावना बढ़ती जा रही है। यह भावना कई विवादों के बाद पनपी है, जिसमें YOUTUBE VS TIK-TOK, भारत-चीन सीमा विवाद और कोरोना वायरस महामारी शामिल हैं। हाल ही के एक सर्वे में सामने आया है कि 67 प्रतिशत भारतीय कोरोना वायरस महामारी फैलाने का जिम्मेदार चीन को मानते हैं।

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close