मध्य प्रदेश

MP: मालिकाना हक सुलझाने के लिए कुत्ते की होगी DNA जांच

भोपाल. मध्य प्रदेश के होशंगाबाद जिले (Hoshangabad District) में पुलिस ने लैब्राडोर नस्ल (Labrador Breed) के एक कुत्ते के स्वामित्व के विवाद में कुत्ते का डीएनए परीक्षण कराने का फैसला किया है. जब दो लोगों ने कुत्ते पर दावा किया और कुत्ते (Dogs) ने भी दोनों को पहचानने का संकेत दिया तो पुलिस भी पसोपेशे में पड़ गयी. अब पुलिस ने अगले चरण में कुत्ते का डीएनए परीक्षण (DNA Test) कराना तय किया है. पुलिस के अनुसार पत्रकार शादाब खान ने कहा कि वह कुत्ते को हिल स्टेशन पचमढ़ी से लाये थे, वहीं एबीवीपी से जुड़े कार्तिक शिवहरे ने बताया कि वह कुत्ते को बाबई से लाये थे. दोनों स्थान होशंगाबाद जिले में हैं.

होशंगाबाद देहात थाने के प्रभारी निरीक्षक हेमंत श्रीवास्तव ने बताया, ‘‘हमने कुत्ते के और खान के पास रखे कागजात के अनुसार पचमढ़ी में उसे जन्म देने वाले दूसरे कुत्ते के खून के नमूने लिये हैं. नमूने लेकर पुलिस का दल डीएनए जांच के लिये सोमवार रात को हैदराबाद रवाना किया जा रहा है.’’ खान ने कहा कि चमकदार काले रंग का कुत्ता, जिसका नाम उन्होंने कोको रखा था, अगस्त माह में लापता हो गया था और इस बारे में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गयी थी. हालांकि, श्रीवास्तव ने कहा कि उनके पुलिस थाने में इस प्रकार की शिकायत का कोई रिकार्ड नहीं है.फिलहाल कुत्ता शिवहरे के पास है

श्रीवास्तव ने कहा कि खान ने पिछले सप्ताह पुलिस को फोन करके दावा किया कि उसने शिवहरे के घर पर अपने ‘‘लापता’’ लैब्रोडोर को देखा है. खान ने पंजीकरण नंबर दिखाते हुए कुत्ते को उस समय वापस ले लिया, लेकिन 19 नवंबर को शिवहरे ने पुलिस से संपर्क किया और कहा कि कुत्ते का नाम टाइगर है और उन्होंने इसे 11 अगस्त को बाबई से खरीदा था. अधिकारी ने बताया कि चूंकि कुत्ता दोनों दावेदारों के साथ पहचानने वाला बर्ताव कर रहा था, इसलिये कुत्ते का डीएनए परीक्षण करवाने का निर्णय लिया गया है. उन्होंने बताया कि फिलहाल कुत्ता शिवहरे के पास है.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button