मध्य प्रदेश

Corona काल में लो राम का नाम, जानिए किस जिले में गाइडलाइन तोड़ने वालों को मिल रही ये अनोखी सजा

मध्य प्रदेश के सतना में पुलिस ने कोरोना गाइड लाइन तोड़ने वालों को अनोखी सजा देनी शुरू की है.

मध्य प्रदेश के सतना में पुलिस ने कोरोना गाइड लाइन तोड़ने वालों को अनोखी सजा देनी शुरू की है.

मध्य प्रदेश की सतना पुलिस कोरोना गाइडलाइन तोड़ने वालों को अनोखी सजा दे रही है. यहां लोगों से श्री राम का नाम लिखवाया जा रहा है. पुलिस का कहना है कि इससे लोगों पर सकारात्मक असर पड़ेगा.

    सतना. मध्य प्रदेश के सतना जिले में लॉकडाउन (Lockdown) तोड़ने वालों को अनोखी सजा दी जा रही है. यहां कोरोना गाइडलाइन उल्लंघन करने वाले भगवान राम का नाम लिख रहे हैं. पुलिस सब इंस्पेक्टर संतोष सिंह ने बताया कि नियम तोड़ने वालों को हम राम-नाम लेखन पुस्तिका देते हैं, जिसमें उन्हें श्री राम का नाम लिखना पड़ता है.

    सतना की ये खबर वायरल हो रही है. जैसे ही इस खबर के फोटो वायरल हुए कई लोगों ने कमेंट्स करना शुरू कर दिया. कुछ ने इनकी तारीफ की और कुछ ने पुलिस को कोई और तरीका अपनाने की भी सलाह दी. गौरतलब है कि जिले में कोरोना कर्फ्यू की समय सीमा एक बार फिर बढ़ा दी गई है. शनिवार को हुई जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में कोरोना कर्फ्यू को 23 मई की रात 11 बजे तक बढ़ाने का निर्णय लिया गया. गौरतलब है कि इससे पहले 6 मई की रात 11 बजे तक कोरोना कर्फ्यू बढ़ाया गया था.

    प्रदेश में कम हो रही कोरोना की रफ्तार

    प्रदेश में कोरोना की रफ्तार में कमी आने आ रही है. संक्रमण के मामले में कभी  टॉप 5 राज्यों में शामिल एमपी (MP) अब 15वें नंबर पर है और प्रदेश में पॉजिटिविटी रेट 11.83 फ़ीसदी हो गया है. एक्टिव केस की संख्या 8087 पर आ गयी है और रिकवरी रेट में भी लगातार सुधार हो रहा है. प्रदेश में रिकवरी रेट 84.47 फ़ीसदी हो गया है.टेस्ट की व्यवस्था में तेजी से सुधार

    मध्य प्रदेश में अब कोरोना टेस्ट की व्यवस्था में भी तेजी के साथ सुधार हो रहा है. तीन दिन पहले प्रदेश में रिकॉर्ड टेस्ट कराए गए हैं. 1 दिन में सबसे ज्यादा 68351 टेस्ट हुए हैं. इसके अलावा सरकार की तरफ से शुरू हुई टेलीमेडिसिन सेवा के जरिए 50,000 लोगों ने डॉक्टरों से परामर्श लिया है. सरकार का दावा है कि ग्रामीण इलाकों में भी हालात में तेजी के साथ सुधार हो रहा है.

    सीएम ने कैबिनेट के साथ की समीक्षा

    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हाल ही में मंत्रिमंडल के सदस्यों के साथ कोरोना समीक्षा बैठक की. मुख्यमंत्री ने किल कोररोना अभियान को पूरी गंभीरता के साथ चलाने के लिए कहा है. बैठक में बताया गया कि प्रदेश में 25000 से ज्यादा कोविड-19 मरीज़ों को मुफ्त इलाज दिया जा रहा है. मुख्यमंत्री ने ब्लैक फंगस के बढ़ते मामलों पर जरूरी व्यवस्थाएं बढ़ाने के लिए कहा है.

    Show More

    Related Articles

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Back to top button