मध्य प्रदेश

शिवराज सरकार के मंत्री बोले- कोरोना को ध्यान में रखकर होगा निकाय चुनाव कराने का फैसला

शिवराज सरकार में कैबिनेट मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि सरकार की पहली प्राथमिकता कोरोना महामारी पर काबू पाना है, इसे देखते हुए ही निकाय चुनाव कराने के बारे में कोई फैसला लिया जाएगा (फाइल फोटो)

शिवराज सरकार में कैबिनेट मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि सरकार की पहली प्राथमिकता कोरोना महामारी पर काबू पाना है, इसे देखते हुए ही निकाय चुनाव कराने के बारे में कोई फैसला लिया जाएगा (फाइल फोटो)

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार की पहली प्राथमिकता कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर से निपटना है. इसके बाद ही नगरीय निकाय चुनाव के संबंध में कोई फैसला होगा

    सागर. मध्य प्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह (Bhupendra Singh) ने कहा कि कोरोना महामारी (Corona Virus) की संभावित तीसरी लहर को ध्यान में रखकर प्रदेश सरकार नगरीय निकाय चुनाव (Local Bodies Election) कराने का फैसला लेगी. उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) की सरकार ने निर्णय किया है कि प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव जब भी होंगे, महापौर को सीधे जनता द्वारा नहीं बल्कि निर्वाचित पार्षदों द्वारा चुना जाएगा.

    सिंह ने रविवार को बताया, ‘राज्य सरकार की पहली प्राथमिकता कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर से निपटना है. इसके बाद ही नगरीय निकाय चुनाव के संबंध में कोई फैसला होगा.’ उन्होंने कहा कि पहले राज्य सरकार विधानसभा सत्र में यह विधेयक लाने वाली थी कि महापौर का चुनाव सीधे जनता द्वारा होगा, लेकिन बाद में सरकार ने सर्वसम्मति से इस विधेयक को वापस ले लिया.

    उन्होंने बताया कि प्रदेश में महापौर का चुनाव अब चुने हुए पार्षदों के माध्यम से होगा. कोई निर्वाचित पार्षद ही महापौर चुना जा सकेगा. (भाषा से इनपुट)

    Show More

    Related Articles

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Back to top button