मध्य प्रदेश

दिग्विजय सिंह ने शेयर किया गीता का श्‍लोक, जानें MP में क्‍यों हो रही चर्चा

दिग्विजय सिंह ने ट्विटर पर एक पोस्ट शेयर किया है. (फाइल फोटो)

दिग्विजय सिंह ने ट्विटर पर एक पोस्ट शेयर किया है. (फाइल फोटो)

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में 28 सीटों पर विधानसभा उपचुनाव (Assembly By-election) को लेकर सियासी पारा चढ़ा हुआ है.

    भोपाल. मध्य प्रदेश में 28 सीटों पर विधानसभा उपचुनाव (Assembly By-election) को लेकर सियासी पारा चढ़ा हुआ है. कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की उपचुनाव में भूमिका को लेकर बीजेपी लगातार सवाल खड़ी करती रही है. बीजेपी ने आरोप लगाए कि उपचुनाव में कांग्रेस ने दिग्विजय सिंह को एक तरह से दरकिनार कर दिया है. हालांकि, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ ने बाद में चुनाव आयोग से जुड़े मामलों की जिम्मेदारी दिग्विजय सिंह को ही सौंपी. इतना ही नहीं कुछ सीटों पर प्रचार का जिम्मा भी दिग्वि​जय सिंह ​को सौंपा गया है. इसके बाद बुधवार को दिग्वि​जय सिंह ने एक ट्वीट किया है.

    ट्वीट पर श्रीमद्भगवत गीता के एक श्‍लोक का पन्‍ना शेयर करते हुए दिग्विजय सिंह ने लिखा- कृपया गीता के 18वें अध्याय का अवलोकन करें. दरअसल, इस अध्याय के एक श्‍लोक में जाति की पहचान के बारे में बताया गया है. इसमें बताया गया कि ब्राह्मण, क्षत्रिय, शुद्र या अन्य जातियों का विभाजन किस आधार पर किया गया. यानी कि इनकी पहचान कैसे की जा सकती है. चुनावी माहौल में पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह का यह ट्वीट चर्चा का विषय बना हुआ है.

    कृपया गीता के १८वें अध्याय का अवलोकन करें। pic.twitter.com/C0Ic6EvbzD

    — digvijaya singh (@digvijaya_28) October 21, 2020

    इन सीटों पर प्रचार का जिम्मा


    एमपी प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा मिली जानकारी के मुताबिक, अशोकनगर, गुना और ब्यावरा सीट पर भी प्रचार का जिम्मा भी पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह को दिया गया है. इन सीटों पर कांग्रेस प्रत्याशियों के लिए दिग्विजय सिंह प्रचार करेंगे. बता दें कि उपचुनाव में बीजेपी लगातार दिग्विजय सिंह के भूमिका पर सवाल उठा रही थी. इसको लेकर कांग्रेस पर तंज भी कसे जा रहे थे. इसके बाद अब पीसीसी चीफ कमलनाथ ने उपचुनाव में प्रचार की जिम्मेदारी दिग्विजय सिंह को दी है.

    Show More

    Related Articles

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Back to top button