मध्य प्रदेश

उज्जैन गंभीर डैम में आया पानी:सुबह 9 बजे तक 1075 एमसीएफटी पानी आया, शाम तक पचास फीसदी भर जाएगा बांध

उज्जैन3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
गंभीर बांध में लगातार जल स्तर बढ़ रहा है। - Dainik Bhaskar

गंभीर बांध में लगातार जल स्तर बढ़ रहा है।

उज्जैन, इंदौर और आसपास हो रही बारिश के कारण गंभीर बांध में लगातार पानी की आवक शुरू हो गई है। गंभीर बांध में गुरुवार से अब तक 655 एमसीएफटी पानी आ गया है। इंदौर के यशवंत सागर का गेट खोले जाने से बांध में 12 सौ एमसीएफटी पानी आने की संभावना है। यह बांध की कुल क्षमता 2250 एमसीएफटी की पचास फीसदी क्षमता से अधिक है।

इंदौर के यशवंत सागर के गेट रात 11.50 बजे खोले गए थे। जो रात 2 बजे बंद कर दिए गए। इस वजह से गंभीर बांध में 82 एमसीएफटी पानी और आ गया। रात 12 बजे तक गंभीर बांध में 993 एमसीएफटी पानी था, जो सुबह 9 बजे बढ़कर 1075 एमसीएफटी हो गया। यानी बांध 480.51 मीटर पानी भर गया है।

इंदौर में लगातार हो रही बारिश के कारण यशवंत सागर के गेट शनिवार को दिन में भी खोले जाने की पूरी उम्मीद है। इससे बांध में और पानी आ जाएगा।

रातभर में उज्जैन में 16 मिमी बारिश

उज्जैन में रात भर में 16 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। इसके साथ ही उज्जैन में अब तक 663 मिमी बारिश हो चुकी है। उज्जैन को अभी औसत 950 मिमी में करीब 300 मिमी बारिश की और जरुरत है।

अभी तक जमा पानी करीब 8 महीने का

इसमें 100 एमसीएफटी डेड स्टोरेज होता है। 8 एमसीएफटी पानी एक बार के जलप्रदाय में खर्च होता है तो डैम से 125 बार जलप्रदाय किया जा सकता है। यानी एक दिन छोड़कर एक समय जलप्रदाय की स्थिति में 8 महीने जलप्रदाय हो सकता है।

नर्मदा का पानी लेना और कान्ह की रोकथाम जरूरी –

जल संकट को देखते नर्मदा का पानी लेने की व्यवस्था जरूरी है। पीएचई ने इस पर काम शुरू कर दिया है। नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण को पानी लेने के लिए आवेदन दिया गया है। इधर त्रिवेणी पर इंदौर की कान्ह नदी का प्रदूषित पानी आने से रोकने की आवश्यकता है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button