नई दिल्ली 
दुनियाभर में अगले 48 घंटों के दौरान इंटरनेट बंद होने की खबरें आ रही हैं। माना जा रहा है इसकी वजह से दुनिया भर के लोग इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। Russia Today की रिपोर्ट के मुताबिक, इंटरनेट कॉर्पोरेशन ऑफ असाइन्ड नेम्स ऐंड नंबर्स क्रिप्टोग्राफिक की बदलकर मेंटनेंस का काम करेंगी। इसकी वजह से मुख्य डोमेन सर्वर्स और इससे जुड़े नेटवर्क इन्फ्रास्ट्रक्चर कुछ समय के लिए डाउन रहेंगे। अब आप सोच रहे होंगे कि जब इंटरनेट डाउन होगा तो आपको वॉट्सऐप, फेसबुक, गूगल मैप्स और कई जरूरी ऑनलाइन काम करने में भी दिक्कत आएगी, तो यह सोचकर परेशान होने की जरूरत नहीं है। जी हां, सूत्रों की मानें तो इसका असर दुनियाभर के सिर्फ 1 फीसदी लोगों पर ही होगा। मतलब करीब 99 फीसदी लोग इससे प्रभावित नहीं होंगे। 

रिपोर्ट की मानें तो अगर यूजर्स के नेटवर्क ऑपरेटर्स या इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स (ISPs) इस बदलाव के लिए तैयार नहीं हैं तो कुछ इंटरनेट यूजर्स को इससे परेशानी हो सकती है। हालांकि, उचित सिस्टम सिक्यॉरिटी एक्सटेंशन्स को इनेबल कर इस प्रभाव को नज़रअंदाज़ किया जा सकता है। गौरतलब है कि इस रिपोर्ट के आने के बाद इंटरनेट बंद होने की खबर तेजी से वायरल होने लगी जिसके बाद ICANN ने इस पर स्पष्टीकरण दिया कि इसका असर लगभग ना के बराबर पड़ेगा। ICANN के प्रवक्ता ने कहा, 'क्रिप्टोग्राफिक की में बदलाव एक दिन पहले से ही चल रहा है और अब तक इंटरनेट सेवाओं पर इसका कोई खास असर नहीं पड़ा है।'

Source : Agency