लखनऊ
अपना दल ने रायबरेली में हुए रेल हादसे पर शोक जताया है। अपना दल के प्रवक्ता एडवोकेट आरबी सिंह पटेल ने रायबरेली में हुए रेल हादसे पर शोक जताते हुए कहा कि भाजपा सरकार में रेल हादसों की बाढ़ आ गई है, जिम्मेदारी तय न होने से अभी तक हादसों में किसी को अपराधी नहीं बनाया गया। वर्तमान सरकार हमेशा कहती रही कि अब रेल हादसा दूर की बात हो गई लेकिन रेल दुर्घटनाओं में कमी नहीं आई। सरकार हादसों के बाद जांच कराती है लेकिन उस जांच में होता क्या है? किसी न किसी को हादसों की जिम्मेदारी लेनी चाहिए।

रेल हादसों का मुख्य कारण मैन पावर की कमी और पटरियों पर अत्यधिक लोड है। आमूल चूल परिवर्तन करके और जिम्मेदारी तय करके रेल हादसों से निजात पाई जा सकती है। अपना दल ने मृतकों के आश्रितों को 25-25 लाख और गंभीर रूप से घायल लोगों को 2-2 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग केन्द्र सरकार से की है।

भारतीय रेल मोदी सरकार में हादसों की रेल बनी: राज बब्बर
वहीं मालदा टाऊन से दिल्ली जा रही न्यू फरक्का एक्सप्रेस के रायबरेली के पास हरचंदपुर में पटरी से उतरकर हादसे का शिकार हो जाने के चलते लगभग 7 निर्दोष लोगों की दु:खद मौत व लगभग 50 से अधिक लोगों के घायल हो जाने पर उप्र कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज बब्बर सांसद ने मृतकों एवं घायलों के प्रति गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने मोदी सरकार में बेतहाशा बढ़ रही रेल दुर्घटनाओं पर रोष व्यक्त करते हुए कहा कि भारतीय रेल मोदी सरकार में हादसों की रेल बन चुकी है।

Source : Agency