इंदौर
इंदौर नगर निगम में करोड़पति हेल्पर के बाद अब भ्रष्ट इंजीनियर पकड़ में आया है. E EOW ने असिस्टेंट इंजीनियर अभय सिंह राठौर के ठिकानों पर एक साथ छापा मारा. अब तक उसकी 15 करोड़ की काली कमाई का ख़ुलासा हो चुका है. इससे पहले अगस्त में लोकायुक्त पुलिस ने हेल्पर असलम खान की 25 करोड़ की संपत्ति का खुलासा किया था.

अभय सिंह नगर निगम के स्वच्छता अभियान में सहायक यंत्री है. EOW ने अभय सिंह राठौर के गुलाब बाग़ में उसके और उसके रिश्तेदारों के घर एक साथ छापा मारा. अभय के छोटे भाई संतोष सिंह, उसके जीजा राकेश सिंह राठौर और बहन माया सिंह के घर पर छापा मारा. अभय का जीजा राकेश सिंह नगर निगम में पानी टैंकर का ठेकदार है.

छापे में अब तक की कार्रवाई में अभय सिंह के पास 15 से 20 करोड़ की काली कमाई सामने आ चुकी है. उसके चारों ठिकानों से 20 लाख नगद, 6 सोने के बिस्किट, 4 भवन इनमें से दो आलीशान घर और कमर्शियल, 36 बीमा पॉलिसी, कई बैंक अकाउंट और लॉकर का पता चला है.

स्वच्छ भारत अभियान में तैनात अभय सिंह राठौर भ्रष्टाचार कर सरकारी ख़जाने की ही सफाई करता रहा. वो 1995 से नगर निगम में है. वो अलग-अलग जगह अपनी पोस्टिंग कराता रहा.

ये संभवत पहला मौका है जब EOW ने सीधे छापा मारा है. वैसे EOW जांच के बाद प्रकरण दर्ज करता है और फिर कार्रवाई की जाती है. लेकिन अभय सिंह के घर सीधे छापा मारा गया. 4 डीएसपी स्तर के अधिकारियों के साथ आयी टीमों ने चारों घरों पर छापा मारा.

Source : Agency