अकसर हम यह सोचते हैं कि आखिर हमारे जीवन का आखिरी लक्ष्य क्या है? हमारे जीवन का मकसद क्या है? कई संत महात्माओं का इस विषय पर यह कहना है कि जीवन का आखिरी उद्देश्य मोक्ष की प्राप्ति होती है। हालांकि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हर एक राशि कोई एक विशिष्ट चीज़ चाहती है।

आध्यात्मिक सिद्धांतों के अनुसार यह चारों तत्वों में से एक है हवा, पानी, अग्नि और पृथ्वी जिनसे इस ब्रह्माण्ड की रचना हुई है। इन्हीं तत्वों का सभी राशियों पर बहुत ही गहरा प्रभाव पड़ता है। इसी पर आधारित आज हम आपको यह बताएंगे कि किस राशि के जीवन का क्या उद्देश्य है।

मेष: शीर्ष तक पहुंचना
इस राशि का तत्व अग्नि होता है। यह हर चीज़ में खुद को आगे रखने की कोशिश करते हैं। इन्हें सफलता किसी भी हालत में चाहिए होती है। अपने आप को साबित करने का ये एक भी मौका नहीं छोड़ते। ये जिस भी काम को करने के लिए चुनते हैं उसमें पूरी तरह डूबकर मेहनत करते हैं। इनमें सब्र की थोड़ी कमी होती है। इंतज़ार करना इन्हें बिल्कुल पसंद नहीं होता।

वृषभ: स्थिरता
इस राशि का तत्व पृथ्वी होता है। इस राशि के जातक चीज़ों को बनाने में विश्वास रखते है, बिगाड़ने में नहीं। अपने करीबी रिश्तों के मामले में ये शांति बनाये रखते हैं। अपने रिश्तों में ये कोई समस्या नहीं चाहते और यदि किसी कारणवश इनके रिश्ते में दिक्कतें आती भी हैं तो उसका समाधान ढूंढने की कोशिश करते हैं। अगर बात धन दौलत की करें तो ये खर्च करने से ज़्यादा बचत करने पर ज़ोर देते हैं। इन्हें अपने जीवन में हर एक चीज़ में स्थिरता चाहिए होती है।

मिथुन: एक खुशहाल दुनिया
इस राशि का तत्व हवा है। इस राशि के लोग ज़्यादा बोलना पसंद नहीं करते लेकिन ये जितने अच्छे वक्ता होते हैं उतने ही अच्छे श्रोता भी हैं। एक बार जब यह बोलना शुरू करते हैं तो अपनी बातों से लोगों का दिल जीत लेते हैं। हंसी मज़ाक करना इन्हें पसंद होता है। इन्हें एक खुशहाल जीवन की चाह होती है।

कर्क: सहानुभूति
कर्क राशि का तत्व पानी होता है। इस राशि के लोग बहुत ही भावुक किस्म के होते हैं। दूसरों का दुख दर्द ये भली भांति समझते हैं। मुसीबत में ये दूसरों की मदद करने में कभी पीछे नहीं हटते इसलिए इनका उद्देश्य लोगों की तकलीफ को बांटना और उनके अंदर प्रेम की भावना को जगाना होता है।

सिंह: एक साहसी दुनिया
इस राशि का तत्व अग्नि होता है। सिंह राशि वालों के अंदर गज़ब का आत्मविश्वास होता है। साथ ही इनमें नेतृत्व की क्षमता होती है। ये दूसरों को कुछ अच्छा करने के लिए हमेशा प्रेरित करते हैं। ये अपने अंदर की प्रतिभा को समझते हैं और दूसरों को भी ऐसा ही देखना चाहते हैं। इस तरह से ये दूसरों के लिए रोल मॉडल बन जाते हैं। इनका उद्देश्य संसार को एक भयमुक्त स्थान बनाना है।

कन्या: सुधार
कन्या राशि वाले बात को बढ़ाने में विश्वास नहीं रखते। ये सबको साथ में लेकर चलना पसंद करते हैं इसलिए यदि कभी चीज़ें बिगड़ भी जाएं तो ये उसे सुधारना पसंद करते हैं ताकि शांति बनी रहे इसलिए इनका उद्देश्य सुधार होता है।

तुला: संतुलित जीवन
अपने राशि चिन्ह की तरह इस राशि के जातक अपने जीवन में संतुलन बनाकर चलना पसंद करते हैं। ये समय के बड़े पाबन्द होते हैं और यह इनकी सबसे बड़ी खासियत होती है। कोई भी फैसला लेने से पहले ये दोनों पक्षों को भली भांति परखते हैं। इस तरह से ये सही और निष्पक्ष फैसला लेने में सक्षम कहलाते हैं।इसका उद्देश्य सब कुछ परफेक्ट और सही करना होता है।

वृश्चिक: जुनून
वृश्चिक राशि वाले जुनून से भरे होते हैं ये जो भी काम करने के लिए चुनते हैं उसमें अपनी पूरी ऊर्जा लगा देते हैं। ये भली भांति समझते हैं कि मेहनत से ही सफलता हासिल की जा सकती है और इसके लिए आपको अपना पूरा समय भी देना पड़ सकता है चाहे वो इनके रिश्ते हो या बात करियर की हो इनकी जुनूनियत देखने लायक होती है।

धनु: खोज
नयी नयी चीज़ों को देखना या उसकी खोज करना इस राशि के जातकों को बेहद पसंद होता है। नए लोगों से मिलना जुलना, दोस्त बनाना नयी संस्कृति के बारे जानना यह सब इनके शौक होते हैं। ये लोगों को जीवन के खूबसूरत रास्तों के बारे में बताना चाहते हैं ताकि वे यह समझ पाएं कि ज़िन्दगी कितनी हसीन होती है।

मकर: सफलता
मकर राशि के लोग बहुत ही खुले विचार, मेहनती और मुंहफट किस्म के होते हैं। इनका सिर्फ एक ही उद्देश्य होता है- जीवन में सफलता हासिल करना। चाहे इसके लिए इन्हें कितनी भी मेहनत क्यों न करनी पड़े। इनका आखिरी उद्देश्य अपनों की ख़ुशी के लिए सफलता पाना है।

कुम्भ: संसार- रहने के लिए सबसे अच्छी जगह
इस राशि के लोग संसार को अपनी अच्छाई से इतना बेहतर बनाना चाहते हैं कि लोग इसमें ख़ुशी ख़ुशी रह सकें। न कोई ईर्ष्या हो न किसी से बैर सभी के बीच प्रेम और सदभावना पनपे। ऐसे विचार रखने वाले होते हैं कुम्भ राशि के जातक।

मीन: कला को बढ़ावा देना
इस राशि का तत्व पानी होता है। कर्क राशि वालों की तरह ये भी बहुत भावुक होते हैं। ये ज़्यादा बोलने वालों में से नहीं होते लेकिन अपनी कला के माध्यम से अपने विचार व्यक्त करने में माहिर होते हैं। ज़्यादातर मीन राशि वालों की हॉबी होती है कला।

 

Source : Agency