नई दिल्ली 
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को पार्टी मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राफेल डील में अनियमितता को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इस्तीफा मांगा. उन्होंने कहा है कि पीएम मोदी भ्रष्ट हैं. उन्हें इस मामले में अपना नाम आने पर इस्तीफा देना चाहिए.

राहुल ने कहा कि इस डील के जरिए पीएम मोदी ने अनिल अंबानी की जेब में 30 हजार करोड़ रुपये डाले हैं. राहुल ने यह भी सवाल किया कि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण इस समय फ्रांस क्यों गई हैं. इस समय फ्रांस में ऐसा क्या पक रहा है कि उन्हें वहां जाना पड़ा.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि पीएम मोदी भ्रष्टाचार के मामले को लेकर सत्ता में आए थे और वही अब इन आरोपों से जूझ रहे हैं. उन पर आरोप लगा है, उन्हें इस मामले पर बोलना चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर पीएम इस मामले पर बोल नहीं पा रहे हैं तो वह इस्तीफा दे दें.

उन्होंने कहा कि राफेल डील साफतौर पर रक्षा क्षेत्र में भ्रष्टाचार का मामला है. इस भ्रष्टाचार को समझने के लिए सारी चीजें सामने हैं. धीरे-धीरे इस सौदे की गड़बड़ियां सामने आ रही हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि इस मामले में कांग्रेस ने जेपीसी बनाकर जांच की मांग की थी. लेकिन बीजेपी इससे पीछे हट गई. उन्होंने आगे कहा कि पीएम मोदी ने देश के किसानों, युवाओं और गरीबों के साथ विश्वासघात किया है.

राहुल का कहना है कि इस मामले में पहले फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने कहा था कि भारत के प्रधानमंत्री ने कहा था कि अनिल अंबानी जी को राफेल का ठेका मिलना चाहिए. अब दसॉ कंपनी के सीनियर एग्जीक्यूटिव ने कहा है कि इस सौदे में अनिल अंबानी की कंपनी को साझेदार बनाने की शर्त थी.

Source : Agency