लखनऊ
उत्तर प्रदेश पुलिस भी कमाल करने में माहिर है। हाल ही में उसने बीच सड़क पर एक व्यापारी को गोली मारने का कारनामा किया। इस पर काफी फजीहत हुई तो उसने चोरी का माल बरामद करने का एक अनोखा रिकार्ड बना दिया। एक बड़े अधिकारी का एक बैग चोरी हो गया। यूपी पुलिस मात्र 10 मिनट में चोरी किया बैग ढूंढ लाई। ऐसे में आप यही कहेंगे कि शाबाश यूपी पुलिस! पर जरा ठहरिए। वह एक नहीं बल्कि 3 बैग ढूंढ लाई।

नगर निगम के साथ 2 करोड़ रुपए के विकास कार्यों का एमओयू करने आए गेल इंडिया के मुख्य महाप्रबंधक अनूप गुप्ता का बैग मुख्यालय के बाहर से गायब हो गया। बदनामी से बचने के लिए मेयर से लेकर नगर आयुक्त तक ने पुलिस अधिकारियों को फोन कर बैग तलाशने का दबाव डाला। इसके 10 मिनट के भीतर ही हजरतगंज पुलिस और डॉयल-100 के सिपाही 3 बैग तलाश लाए। हालांकि इनमें से एक भी मुख्य महाप्रबंधक का बैग नहीं था।

हिंदुस्तान की नवरतन कम्पनियों में शामिल गेल इंडिया के मुख्य महाप्रबंधक अनूप गुप्ता बुधवार को दोपहर करीब 2.30 बजे नगर निगम पहुंचे। उनके साथ भाजपा के महानगराध्यक्ष मुकेश शर्मा और सांसद प्रतिनिधि दिवाकर त्रिपाठी भी थे। नगर निगम की तारीफ से चीफ इंजीनियर एसपी सिंह ने एमओयू पर दस्तख्त किए। इसके बाद जैसे ही वह वापस अपनी कार तक पहुंचे तो पता चला कि उनका बैग गायब हो चुका है। 
उसमें उनकी वापसी का टिकट सहित करीब 35 हजार रुपए भी थे।

इसकी सूचना मिलते ही मेयर और नगर आयुक्त ने हजरतगंज पुलिस को बुला लिया और गार्डों व कर्मचारियों से भी पूछताछ शुरू हो गई। इसके महज 10 मिनट बाद ही पुलिस के सिपाही 3 बैग लेकर नगर निगम पहुंच गए। इन सभी बैगों में नए कपड़े भरे हुए थे, जिनमें से कोई भी अनूप गुप्ता का नहीं था। इसके बाद पुलिस गाड़ी के ड्राइवर को चोरी की आशंका में पकड़कर हजरतगंज थाने ले गई। जिसमें देर रात तक पूछताछ होती रही। नगर आयुक्त के मुताबिक निजी ट्रैवल एजैंसी की गाड़ी से अनूप गुप्ता आए थे। मामले की सूचना पुलिस को दे दी गई है, साथ ही उन्हें वापस भेजने का इंतजाम भी करवाया गया है।

Source : Agency