मुंबई
बीजेपी के सीनियर लीडर नितिन गडकरी का एक टेलिविजन चैनल को हाल ही में दिया गया बयान पार्टी के लिए सिरदर्द साबित हो सकता है। राजमार्ग एवं भूतल परिवहन मंत्री ने पीएम मोदी के हर आदमी के खाते में 15 लाख रुपये आने के वादे को लेकर कहा, 'हमें इस बात का पूरा भरोसा था कि हम कभी सत्ता में नहीं आ सकते। इसलिए हमें बड़े-बड़े वादे करने की सलाह दी गई।'

पर फिर भी अंध भगतो की आंखे नही खुलने वाली. उनको अभी भी उमीद नही के मोदी से, जब के देश का बुरा हाल हो गया है, रुपया, शेयर मार्केट, कश्मीर, पेट्रोल सब जगहा मोदी फेल.

शो के दौरान गडकरी ने कहा, 'अब हम सत्ता में हैं। जनता हमें अब उन वादों की याद दिलाती है, जो हमने किए थे। हालांकि इन दिनों हम उन पर सिर्फ हंसते हैं और आगे बढ़ जाते हैं।' गडकरी का यह बयान विपक्ष के लिए मोदी सरकार को घेरने का एक नया हथियार बन सकता है। गडकरी का यह इंटरव्यू कुछ दिनों पहले एक मराठी चैनल पर दिखाया गया था।

नितिन गडकरी की इस टिप्पणी को तुरंत लपकते हुए विपक्षी दल कांग्रेस ने ट्वीट किया और कहा, 'गडकरी ने यह साबित कर दिया कि बीजेपी सरकार जुमलों और झूठे वादों पर बनी है।' यही नहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस पर ट्वीट करते हुए कहा, 'आप सही हैं। यहां तक कि लोग भी अब यह सोचने लगे हैं कि सरकार ने उनकी उम्मीदों और भरोसे का इस्तेमाल पार्टी की जरूरतों को पूरा करने के लिए किया।'

Source : Agency