बीजिंग
भारत और रूस के बीच हुई S-400 डील से कई देश चौकन्ने हो गए है। अमरीका से प्रतिबंध के खतरे की आशंकाओं के बावजूद भारत रूस से S-400 मिसाइल सिस्टम की डील से कदम पीछे नहीं किए। भारत का कट्टर दुश्मन भारत के इस कदम से काफी सहम गया है। भारत को जवाब देने के लिए पाकिस्तान से चीन से 48 हाई क्वॉलिटी मिलिटरी ड्रोन खरीदने का फैसला किया है।

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने मंगलवार को एक रिर्पोट में कहा पाकिस्तान को विंग लूंग-दो मानवरहित विमान प्रणाली की बिक्री की जाएगी। इसका निर्माण चेंगदू एयरक्राफ्ट इंडस्ट्रियल (ग्रुप) कंपनी ने किया है। यह एक अत्याधुनिक तकनीक से लैस विमान है। यह निगरानी, हमला करने के साथ-साथ कई अन्य तरह के काम करने में भी सक्षम है।

खबर में कहा गया है कि इस मानवरहित ड्रोन विमान का संयुक्त तौर पर निर्माण भी किया जाएगा।   चीन, पाकिस्तानी सेना को हथियारों की आपूति करने वाला सबसे बड़ा देश है। दोनों देश मिलकर अभी जेएफ-थंडर लड़ाकू विमान का उत्पादन करते हैं।  हाल में भारत के रूस से एस-400 प्रक्षेपास्त्र प्रणाली खरीदने के बाद चीन की ओर से यह घोषणा की गई है।  
 

Source : Agency