ब्यूनस आयर्स
यूथ ओलिंपिक गेम्स -2018 में भारत की नजरें अपने पुराने प्रदर्शन को बेहतर करने पर होंगी। रविवार से शुरू हो रहे इन खेलों में कई ऐसे खिलाड़ी हैं जो हाल ही में खत्म हुए एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स में देश के लिए पदक ला चुके हैं। भारत ने चीन के नानजिंग में हुए पिछले संस्करण में सिर्फ 2 पदक जीते थे। भारत इस बार 13 खेलों की 37 स्पर्धा में अपने कुल 47 खिलाड़ी उतार रहा है।

जकार्ता में खेले गए एशियाई खेलों में देश को गोल्ड दिलाने वाले 15 साल के युवा निशानेबाज सौरभ चौधरी 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में यूथ ओलिंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करेंगे। सौरभ ने एशियाई खेलों में अपने प्रदर्शन से सभी को प्रभावित किया है। मनु भाकर हालांकि एशियाई खेलों में राष्ट्रमंडल खेलों की सफलता को नहीं दोहरा पाई थीं लेकिन उनमें प्रतिभा को कोई कमी नहीं है। वहीं राष्ट्रमंडल खेलों की पदक विजेता मेहुली घोष भी पदक की दावेदार के रूप में ब्यूनस आयर्स पहुंची हैं।

निशानेबाजी में इन तीनों के अलावा तुषार माने भी हैं। यूथ ओलिंपिक खेलों में निशानेबाजी में भारत को सबसे ज्यादा उम्मीद हैं। इसके बाद बैडमिंटन है जहां जूनियर रैंकिंग में वर्ल्ड नंबर-3 लक्ष्य सेन और महिलाओं में जूनियर बैडमिंटन में वर्ल्ड नंबर-5 जक्का वैष्णवी रेड्डी पदक के दावेदार माने जा रहे हैं। यह दोनों एकल स्पर्धा के अलावा मिक्स्ड डबल्स में भी हिस्सा लेंगे, लेकिन इनका जोड़ीदार कौन होगा, इस बात का पता अभी नहीं चला है।

मुक्केबाजी में भारत सिर्फ लड़कियों की 51 किग्रा भारवर्ग स्पर्धा में हिस्सा ले रहा जहां ज्योति गुलिया देश का प्रतिनिधित्व करेंगी। उन्होंने एआईबीए यूथ महिला वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में गोल्ड जीत यूथ ओलिंपिक का टिकट कटाया था। वहीं कुश्ती में भी भारत सिर्फ महिल वर्ग में शिरकत कर रहा। इस खेल में 43 किग्रा भारवर्ग स्पर्धा में सिमरन और 57 किग्रा में मानसी से पदक की उम्मीदें हैं।

भारत इन खेलों में फाइव-ए साइड हॉकी में पदार्पण कर रहा है। इस खेल में भारत की पुरुष और महिला दोनों टीमें उतर रही हैं। पुरुष टीम अपना पहला मैच रविवार को बांग्लादेश से खेलेगी जबकि महिला टीम इसी दिन ऑस्ट्रिया का सामना करेगी। तैराकी में सीनियर स्तर पर भारत का प्रतिनिधत्व करने वाले श्रीहरि नटराज यूथ ओलिंपिक में भी देश का प्रतिनिधित्व करेंगे। वह 50 मीटर बैकस्ट्रोक, 100 मीटर बैकस्ट्रोक और 200 मीटर बैकस्ट्रोक में स्पर्धा में उतरेंगे। अद्वैत पेज 800 मीटर फ्री स्टाइल में पदक की दावेदारी पेश करेंगे।

टेबल टेनिस में भी भारत पदक की उम्मीद कर सकता है क्योंकि हालिया दौर में शानदार प्रदर्शन करने वाले मानव ठक्कर और अर्चना कामथ इन खेलों में उतर रहे हैं। पिछले यूथ ओलिंपिक में भारत ने एक सिल्वर मेडल भारोत्तोलन में जीता था। वेंकट राहुल रगाला ने 77 किलोग्राम भारवर्ग में दूसरा स्थान हासिल किया था। इस बार जैरेमी लालरिनयुंगा के जिम्मे यह जिम्मेदारी होगी। वह 62 किलोग्राम भारवर्ग में उतरेंगे। महिला वर्ग में स्नेहा श्योरण 48 किलोग्राम भारवर्ग में उतरेंगी।

Source : Agency