मुरैना
मध्य प्रदेश दौरे पर पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मुरैना में जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार और प्रधानमंत्री पर जमकर निशाना साधा। हाल ही में दिल्ली पहुंचे किसानों पर हुए लाठीचार्ज की ओर इशारा करते हुए राहुल ने कहा कि किसान अपने अधिकारों के लिए लड़ते हैं और उन्हें जेल में डाल दिया जाता है लेकिन आप उस व्यक्ति खिलाफ ऐक्शन नहीं लेते जो 9000 करोड़ रुपये लेकर चला गया। उन्होंने कहा, 'विजय माल्या 9000 करोड़ रुपये लेकर भाग गए। भागने से पहले वह संसद में वित्त मंत्री से मिलकर गए और बताया कि वह लंदन जा रहे हैं। वित्त मंत्री ने पुलिस, ईडी और सीबीआई को अलर्ट नहीं किया। किसान अपने अधिकारों के लिए लड़ते हैं और उन्हें जेल में डाल दिया जाता है लेकिन आप उस व्यक्ति खिलाफ ऐक्शन नहीं लेते जो 9000 करोड़ रुपये लेकर चला गया।'

'मनरेगा के लिए दिए रुपये, नीरव मोदी ने चुराए'
उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने मनरेगा के लिए 35,000 रुपये आवंटित किए थे लेकिन इस स्कीम के सारे पैसे ले लिए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जितने रुपये मनरेगा के लिए दिए थे उतने ही नीरव मोदी ने चुराए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी के लोगों ने पूरे देश में पंचायती राज के ढांचे पर आक्रमण कर दिया है।

'जीते तो लाएंगे ट्राइबल बिल'
राहुल ने कहा कि कांग्रेस जो जमीन अधिग्रहण बिल लाई उसके तहत किसानों से पूछकर पंचायत से पूछकर जमीन ली जाती और मार्केट रेट से चार गुना ज्यादा कीमत दी जाती लेकिन 2014 में नरेंद्र मोदी और बीजेपी सरकार बनी। कुछ ही दिनों में पता चला कि जमीन अधिग्रहण को बीजेपी खत्म करना चाहती है। राहुल ने जनसभा में मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस सरकार आने पर ट्राइबल बिल लागू करने की बात की थी।

राफेल को लेकर हमला
उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान की एयरफोर्स के लिए यूपीए सरकार ने 526 करोड़ रुपये में हवाई जहाज खरीदा। इस हवाई जहाज को बनाने का कॉन्ट्रैक्ट एचएएल को दिया जाता है। राहुल ने दावा किया, 'प्रधानमंत्री जी फ्रांस जाते हैं, कॉन्ट्रैक्ट बदलते हैं। कॉन्ट्रैक्ट एचएएल से छीनकर अपने मित्र अंबानी को देते हैं। 526 करोड़ का हवाई जहाज 1600 करोड़ रुपये में खरीदा जाता है । जब अनिल अंबानी जी ने मोदी जी से कॉन्ट्रैक्ट मांगा तो उन्होंने बिना किसी से पूछे सीधा 30,000 करोड़ रुपये उसकी जेब में डाल दिया।'

Source : Agency