इस्लामाबाद
पाकिस्तान का प्रधानमंत्री बनने से पहले पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) पार्टी के चेयरमैन इमरान खान को लिखित में माफी मांगनी पड़ेगी. पाकिस्तान चुनाव आयोग (ECP) ने भड़काऊ भाषण देने और चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने के आरोप में इमरान खान से लिखित में माफी मांगने को कहा है.

आयोग ने इमरान खान के वकील बाबर अवान से कहा कि मामले में इमरान खान शुक्रवार तक माफीनामा दाखिल करें, जिसमें उनके खुद के हस्ताक्षर हों. इमरान खान पर चुनावी अभियान के दौरान विपक्षी दलों के नेताओं के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने, भड़काऊ भाषण देने और चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने के दो मुकदमें दर्ज किए गए थे.

गुरुवार को ECP ने चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने के मामले में इमरान खान के साथ ही मौलाना फजलूर रहमान, सरदार सादिक और परवेज खटक को चेतावनी देते हुए बरी कर दिया.

मुख्य चुनाव आयुक्त जस्टिस सरदार मोहम्मद रजा (रिटा.) की अध्यक्षता वाली चार सदस्यीय बेंच ने चारों नेताओं को आगे ऐसा भाषण न देने की कड़ी चेतावनी जारी करते हुए बरी किया है.

इससे पहले नेशनल असेंबली के पूर्व स्पीकर सादिक और खैबर पख्तूनख्वा के पूर्व मुख्यमंत्री खटक ने चुनाव आयोग के समक्ष लिखित माफीनामा दाखिल किया. जमात उलेमा-ए-इस्लाम के प्रमुख फजल ने भी लिखित में माफी मांगी.

पाकिस्तान चुनाव आयोग ने पिछले महीने इन नेताओं के खिलाफ नोटिस जारी किया था. इनके भड़काऊ भाषण अखबारों छापे और टीवी चैनलों पर चलाए गए थे. इमरान खान ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के समर्थकों को 'गधा' कहा था. उन्होंने पिछले माह ही अपनी इस विवादित बात के लिए माफी मांग ली थी.

Source : Agency