ग्वालियर
 सीबीआई अब व्यामपं कांड के चालान अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (एसीजेएम) मातादीन रजक की कोर्ट में पेश करेगी। हाईकोर्ट ने एसीजेम का कोर्ट चालान पेश करने के लिए अधिसूचित किया है।

7 महीने से यह कोर्ट खाली पड़ा था और इंदौर के विशेष कोर्ट में चालान पेश करने का आदेश जारी किया गया था, लेकिन इंदौर कोर्ट में चालान पेश करने से कई व्यवहारिक दिक्कतें भी सामने आई थीं। इंदौर चालान जाने से न्याय भी महंगा हो रहा था।

हाईकोर्ट ने अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट एके सिंह की कोर्ट को व्यापमं के चालान पेश करने के लिए अधिसूचित किया था। ग्वालियर-चंबल संभाग के जो भी चालान सीबीआई पेश करेगी, उनके चालान एके सिंह की कोर्ट में आएंगे।

चालान के लोकार्पण के बाद उन्हें विशेष सत्र न्यायालय में ट्रायल के लिए भेज दिया जाएगा, लेकिन दिसंबर 2017 में एके सिंह का स्थानांतरण ग्वालियर से हो गया। यह कोर्ट खाली पड़ रहा। कोर्ट खाली होने के बाद सीबीआई ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की कोर्ट में चालान पेश कर दिए, लेकिन कोर्ट व्यापमं के लिए अधिसूचित नहीं होने से वह कमिट नहीं हो पाए।

इसको लेकर सीबीआई ने हाईकोर्ट से गुहार लगाई, लेकिन उसका हल नहीं निलक सका। आखिरी में इंदौर के विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट के कोर्ट को चालन पेश करने के लिए अधिसूचित कर दिया, लेकिन इसमें कई व्यवहारिक परेशानियां सामने आईं। इंदौर में चालान पेश करने से व्यवहारिक कठिनाइयां आ रही थीं। इसके चलते ग्वालियर में कोर्ट निर्धारित करनी पड़ी।

Source : Agency