बुरहानपुर 
मुख्यमंत्री की घोषणा को जन जन तक पहुँचाने के लिए सरकार हर जिलों में कार्यक्रम कर रही है| लेकिन भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान पद से हटने के बाद सरकार की योजनाओं को ही भूल गए | मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना का बुधवार को शुभारम्भ हुआ, लेकिन इस योजना से मिलने वाले लाभ की पूरी जानकारी सांसद नंदू भैया को नहीं थी, बुरहानपुर में आयोजित कार्यक्रम में वो गलत जानकारी श्रमिकों को समझाने लगे, तब मंत्री अर्चना चिटनीस ने बाद में सही जानकारी देते हुए सुधार कर स्पष्ट किया|  

दरअसल, मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना के तहत बुधवार को जिलेभर में संबल कार्यक्रम आयोजित किए गए। इसमें किसी हितग्राही को सहायता राशि के चेक आदि वितरित किए गए। मुख्य कार्यक्रम बुरहानपुर रेणुका मंडी में आयोजित किया गया। जिसमे महिला एवं बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनीस और सांसद नंदकुमार सिंह चौहान उपस्थित रहे| कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए नंदू भैया ने कहा संबल योजना में जिनके नाम जुड़े है, उनकी बिजली के बिल माफ किए जाएंगे। उनसे कभी वसूली नहीं की जाएगी। मीटर रीडर की झंझट खत्म, अब कोई रीडिंग के लिए भी नहीं आएगा। हर महीने सिर्फ 200 रुपए बिल भरना होगा। ये सुविधा जुलाई माह से शुरू हो जाएगी। सामान्य मृत्यु पर 2 लाख, दुर्घटना मृत्यु पर 4 लाख, अंत्येष्टि के लिए पांच हजार, प्रसूता को 16 हजार मिलेंगे। केंद्र की आयुष्मान योजना में इलाज के लिए पांच लाख रुपए मिलेंगे। हेल्थ इंश्योरेंस करने पर अगस्त में क्रेडिट कार्ड आएंगे। जिले के 3400 तेंदू पत्ता संग्राहकों को चप्पल, साड़ी और आदिवासियों को पानी की कुप्पियां देंगे। बिजली की योजना को लेकर सांसद और मंत्री ने अलग अलग जानकारी दी| सांसद द्वारा जानकारी गलत देने पर मंत्री ने योजना समझाकर सुधार किया।  

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं पर भड़के 
भाषण के दौरान सांसद आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं पर भी भड़कते नजर आये| आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के बीच भाषण में उठकर जाने पर सांसद बोले  अरे जो जा रहे हैं आराम से निकल जाओ, ये आंगनवाड़ी वाली जो बाइयां जा रही है इनको कौन लाता है, इनका लेना-देना नहीं।  बता दें कि इससे पहले भी नंदकुमार आँगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को लेकर बयानबाजी कर विवाद में फंस चुके हैं| 

Source : Agency