मुरैना
मध्य प्रदेश के हेल्थ मिनिस्टर रुस्तम सिंह के गृह जिले मुरैना जिले में 108 एम्बुलेंस की लापरवाही के चलते एक मासूम की मौत हो गई. परिजनों का आरोप है कि कॉल करने के एक घंटे बाद भी 108 एम्बुलेंस नही पहुंची. जिससे प्राइवेट गाड़ी में प्रखर को जिला अस्पताल ले जाना पड़ा और रास्ते में उसकी मौत हो गई.

मामला सबलगढ़ इलाके का है, जहां व्यापारी नरेश जाटौला के बेटे प्रखर को देर रात बीमारी के बाद उपस्वास्थ्य केंद्र सबलगढ़ में भर्ती कराया गया, जहां उसकी हालत में सुधार नहीं हुआ तो उसको जिला अस्पताल रेफर किया गया.

परिजनों द्वारा 108 एम्बुलेंस को कॉल किया गया लेकिन एक घंटे बाद भी 108 मरीज को लेने नही पहुंची, इसके बाद परिजन प्राइवेट गाड़ी से मरीज को जिला अस्पताल लेकर रवाना हुए लेकिन रास्ते मे ऑक्सीजन गाड़ी में ना होने के कारण उसकी मौत हो गई.

परिजनों का कहना है कि अगर 108 एम्बुलेंस होती तो उसमें ऑक्सीजन होता और वह समय से जिला अस्पताल पहुंच जाते जिससे प्रखर की शायद जान बच जाती. वहीं मामले में अधिकारी जांच कर दोषियों पर कार्यवाही की बात कह रहे हैं.

Source : Agency