लखनऊ
उत्तर प्रदेश में अन्य सुधारों के साथ-साथ बीते कुछ महीनों में शिक्षा को लेकर भी बड़े सुधार देखने को मिले हैं। यूपी बोर्ड के बच्चे सीबीएसई और आईसीएससी बोर्ड के विद्यार्थियों की बराबरी कर सकें इसके लिए माध्यमिक शिक्षा परिषद के पाठ्यक्रम में भी बड़ा बदलाव किया गया।

शिक्षा सुधारों को लेकर बनारस में प्रेस वार्ता के दौरान डिप्टी सीएम व उच्च शिक्षामंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि दो से ढाई महीने में होने वाली बोर्ड परीक्षाएं इस साल एक महीने में संचालित की गईं। पूरी सुचिता के साथ नकल विहीन परीक्षा कराने का रिकार्ड बनाया गया। समय से परिणाम घोषित कर दिए गए। अब अगला लक्ष्य ये है कि बोर्ड परीक्षाएं 20 दिनों में संचालित होंगी। पढ़ाई को सख्ती से लागू किया जाएगा। शिक्षा के उन्नयन के लिए आगामी 14 जुलाई को शिक्षाविदों और विशेषज्ञों के साथ बैठक होगी।

शिक्षामंत्री ने कहा कि शैक्षणिक कैलेंडर को अपडेट करने व माध्यमिक शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए क्या परिवर्तन किए जाएं इस पर भी मंथन होगा। इस दाैरान शिक्षा अधिकारियों से बैठक में शिक्षा की गुणवत्ता को लेकर चर्चा की गई। मारवाड़ी सम्मेलन वाराणसी शाखा की ओर से आयोजित इस 25वें सम्मेलन में देश भर से आए मारवाड़ी समाज के प्रतिनिधियों से उपमुख्यमंत्री ने आह्वान किया कि वे नशाखोरी, दहेज प्रथा और जातिवाद के जहर को मिटाएं।

Source : Agency