रोहतक/हिटी
रोहतक पुलिस ने नेशनल लेवल पर गोल्ड मेडल जीत चुके नामी पहलवान राकेश मोखरिया को हत्या के एक मामले में गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मोखरिया पर 25 हजार रूपए का इनाम घोषित कर रखा था। उसके पास से 30 बोर की पिस्टल भी बरामद हुई है। रेसलर राकेश मोखरिया आसनिया गैंग का वांटेड अपराधी है। मोखरिया पर आरोप है कि उसने आसन गांव में पिछले साल जून में शराब ठेकेदार बलबीर सिंह की साथियों संग मिलकर हत्या कर दी थी। इसके अलावा भी उसने कई ने वारदातों को अंजाम दिया।

एसपी जशनदीप सिंह रंधावा ने बताया कि एवीटी प्रभारी मनोज वर्मा को सूचना मिली कि राकेश मोखरिया आउटर बाईपास पर झज्जर रोड पुल पर किसी वारदात को अंजाम देने के इरादे से घूम रहा है। सूचना को गंभीरता से लेते हुए एवीटी प्रभारी फोर्स के मौक पर पहुंचे। तत्परता दिखाते हुए मोखरा गांव निवासीराकेश मोखरिया को पुल से काबू कर लिया। पुलिस की प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि राकेश मोखरिया ने वर्ष 2005 में झज्जर में एक हत्या करने के बाद अपराध जगत में कदम रखा। इस मामले में 6 साल तक जेल में रहने के बाद उसने बाहर आकर शराब के ठेकेदारी का काम करना शुरु कर दिया। उसने गैंगस्टर रोहताश आसनिया के कहने पर वर्ष 2017 में बलबी सिंह की अपने साथियों के साथ मिलकर हत्या कर दी थी। वर्ष 2003 में राकेश ने हरियाणा राज्य के लिए स्वर्ण पदक जीता था। वर्ष 2003 में ही तालकटोरा स्टेडियम दिल्ली में राष्ट्रीय स्तर के पहवानों के दंगल में कांस्य पद हासिल किया था।

Source : agency