नई दिल्ली
कांग्रेस लगभग दो साल बाद इफ्तार पार्टी का आयोजन कर रही है। इसमें कांग्रेस के तमाम नेताओं के साथ जहां विपक्ष के तमाम नेताओं को न्यौता भेजा गया है, वहीं चर्चा थी कि कांग्रेस ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को नहीं बुलाया। हालांकि दिन भर इस बात पर विवाद रहने के बाद सोमवार रात को कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रणब को न्योता दिया है और उन्होंने इसे स्वीकार कर लिया है।

इससे अटकलों पर विराम की उम्मीद है। प्रणब मुखर्जी ने पिछली बार सोनिया गांधी की ओर से आयोजित इफ्तार में मौजूदगी दर्ज कराई थी। असल में पहले माना जा रहा था कि मुखर्जी के हालिया संघ मुख्यालय के दौरे के चलते कांग्रेस ने उन्हें बुलावा नहीं भेजा था। बता दें कि कि प्रणब मुखर्जी के नागपुर जाने को लेकर उनकी बेटी शर्मिष्ठा सहित तमाम कांग्रेस नेताओं ने आपत्ति दर्ज कराई थी।

यह बात और है कि प्रणब के भाषण के बाद कांग्रेस की ओर से कहा गया था कि उन्होंने संघ में जाकर संघ व बीजेपी को आईना दिखाने का काम किया। कांग्रेस के नेताओं ने दावा किया है कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के ऑफिस ने इस न्योते को स्वीकार कर लिया है और वह इफ्तार में शामिल भी होंगे।

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि कई मीडिया हाउसों ने प्रणब मुखर्जी को इफ्तार में न्योता देने को लेकर सवाल उठाए थे। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रणब मुखर्जी को न्योता दिया है और उन्होंने इसे स्वीकार भी कर लिया है। सुरजेवाला ने कहा कि अब शायद अनचाही अटकलों पर विराम लग जाएगी। सूत्रों के मुताबिक, राहुल गांधी की इफ्तार पार्टी में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को नहीं बुलाया गया है।

Source : Agency