वास्तु शास्त्र प्राचीन भारतीय विज्ञान है जिसे आधुनिक समय के विज्ञान आर्किटेक्चर का पुराना स्वरुप माना जा सकता है। लेकिन क्या आप जानते हैं वास्तु शास्त्र अगर आपके रिश्ते में मिठास ला सकता है तो वहीं वास्तु दोष अवैध संबंधों को भी जन्म दे सकता है।

वास्तु शास्त्र लोगों के जीवन में पड़ने वाली सकारात्मक और नकारात्मक ऊर्जा पर नियंत्रण रखता है। नकारात्मक ऊर्जा का असर तब होता है जब पति-पत्नी बिना मुद्दे के बात-बात पर झगड़ने लगते हैं। मियां-बीवी के बीच का स्नेह कम होने लगता है। पति-पत्नी को सिर्फ एक-दूसरे में कमी दिखने लगती है।

  • वास्तु दोष के ही कारण पति-पत्नी बाहर जाकर अवैध संबंधों को जन्म देने लगते हैं।
  • वास्तुशास्त्र के अनुसार घर की दक्षिण-पश्चिम एवं उत्तर-पश्चिम दिशा में यदि दोष हों तो यह सीधा पति-पत्नी के जीवन पर असर करते हैं।
  • बेडरूम के गलत जगह बनने से भी वास्तु दोष हो सकता है।
  • घर में दीवारों का रंग, सीढ़ियों का गलत दिशा में होना भी एक तरह का वास्तु दोष है।
  • बेडरूम नार्थ-वेस्ट में नहीं होना चाहिए। बेडरूम में लाल बेडशीट नहीं होनी चाहिए और बेड के ठीक सामने शीशा नहीं होना चाहिए।
Source : Agency