रायपुर
छत्तीसगढ़ में शराबबंदी की मांग भले ही उठती रही हो, सामाजिक संगठनों के साथ विपक्षी दल विरोध में सड़क में प्रदर्शन करते रहे हों, यहां तक कि राजनीतिक पार्टियों के एजेंडे में पूर्ण शराबबंदी चुनावी मु्द्दों में प्रमुखता शामिल रहा हो, लेकिन भाजपा सरकार ने अब स्पष्ट कर दिया हैं कि प्रदेश में शराबबंदी नहीं होगी.

आबकारी मंत्री अमर अग्रवाल ने सोमवार को प्रेसवार्ता में साफ शब्दों में कहा कि चुनाव से पहले सरकार का शराबबंदी करने का कोई इरादा नहीं है. शराब की अवैध बिक्री में नियंत्रण लगाने की व्यवस्था को दुरस्त करने की कोशिश जा रही है.

मंत्री अमर अग्रवाल ने क​हा कि शराब के सरकारीककरण के बाद अवैध शराब की बिक्री पर लगाम लगी है. आज प्रदेश में अवैध शराब बिक्री और कोचियाबंदी लगभग हो गई है.

Source : Agency