नई दिल्ली

भारतीय कुश्ती महासंघ ने कहा किगंभीर अनुशासनहीनताके कारण राष्ट्रीय शिविर से बाहर की गईं फोगाट बहनों को वापसी के लिए अपनी गैर मौजूदगी का कारण स्पष्ट करना होगा, जबकि बबीता फोगाट ने चोटिल होने का दावा किया। राष्ट्रमंडल खेल पदक विजेता गीता और बबीता फोगाट अपने जीवन पर आमिर खान कीदंगलफिल्म के बाद लोकप्रिय हो गई थी। उनकी छोटी बहनों ऋतु और संगीता को भी लखनऊ में चल रहे शिविर से अनुशासनहीनता के कारण बाहर कर दिया गया।

डब्ल्यूएफआई ने शिविर से बिना बताए बाहर रहने का कारण दिया है। महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने कहा , ‘राष्ट्रीय शिविर के लिए चुने गए पहलवानों को 3 दिन के भीतर रिपोर्ट करना होता है। कोई समस्या होने पर उन्हें जाकर कोचों को बताना होता है ताकि समाधान निकल सके।उन्होंने कहा , ‘लेकिन गीता , बबीता और अन्य ( कुल 13) ने ऐसा नहीं किया। उनसे संपर्क ही नहीं हो सका। यह गंभीर अनुशासनहीनता है और डब्ल्यूएफआई का मानना है कि कार्रवाई करना जरूरी है। हमने उन्हें घर बैठने और आराम करने के लिए कह दिया है।

इस कार्रवाई के मायने हैं कि वे इस महीने के आखिर में होने वाले एशियाई खेल चयन ट्रायल से बाहर रह सकती है। एशियाई खेल अगस्त सितंबर में इंडोनेशिया में होने है। सिंह ने हालांकि कहा कि अपनी इस हरकत का स्पष्टीकरण देने पर इन पहलवानों को मौका दिया जा सकता है। उन्होंने कहा , ‘पहले उन्हें आकर हमें कारण बताने दीजिए। अभी तो वे राष्ट्रीय शिविर से बाहर हैं।

पुरुष और महिलाओं का राष्ट्रीय शिविर 10 से 25 मई तक सोनीपत और लखनऊ में चल रहा है। बबीता ने कहा- मुझे किसी तरह का नोटिस नहीं मिला है। उन्होंने कहा, ‘मुझे महासंघ से कोई नोटिस नहीं मिला। मैं अभी तक शिविर में नहीं गई, क्योंकि मेरे दोनों घुटनों में चोट है। मैंने महासंघ को सूचित नहीं किया, लेकिन आज ही करूंगी।

अपनी बहनों के बारे में उन्होंने कहा कि ऋतु और संगीता रूस में अभ्यास शिविर में भाग लेने के लिए वीजा का इंतजार कर रही हैं, हालांकि महासंघ ने इस दावे को खारिज किया। साथ ही कहा , ‘गीता बेंगलुरु में हैं और मुझे लगा कि वह शिविर में पहुंच गई हैं। मैं भी जेएसडब्ल्यू सेंटर में रिहैबिलिटेशन के लिए बेंगलुरु जा रही हूं।

Source : Agency