नई दिल्ली
पंजाब नेशनल बैंक में हुए 13400 करोड़ रुपये के घोटाले में सीबीआई ने दूसरी चार्जशीट दाखि‍ल कर ली है. इसमें गीतांजलि समूह के मालिक मेहुल चौकसी, इलाहबाद बैंक की सीईओ ऊषा अनंत सुब्रमण्यन और 13 अन्य लोगों का नाम शामिल है. इससे पहले सोमवार को सीबीआई ने कोर्ट में पहली चार्जशीट दाखिल की थी, जिसमें घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी के खिलाफ आईपीसी की धारा 409, 420 और 120 बी के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था.

सीबीआई ने बुधवार को मुंबई की विशेष सीबीआई  अदालत में चार्जशीट दायर की. इसमें मेहुल चौकसी की तीनों कंपनियों गीतांजलि जेम्स लिमिटेड, गिली (Gili) इंडिया लिमिटेड और नक्षत्र ब्रांड्स लिमिटेड का नाम भी इसमें शामिल किया गया है. सीबीआई ने बुधवार को 12,000 पन्नों की दूसरी चार्जशीट कोर्ट में दाखिल की. इसमें मेहुल चौकसी पर भी वहीं धाराएं लगाई गईं हैं, जो पहली चार्जशीट में उनके भांजे नीरव मोदी पर लगाई गई थी. 

मुंबई की अदालत में तीन महीनों की जांच के बाद दायर की गई इस चार्जशीट में कहा गया है कि चौकसी की कंपनियों को लेटर ऑफ अंडरस्टैंडिंग (LoU) देने के लिए उसने पीएनबी  में डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी को 1 करोड़ रुपये दिए. जांच एजेंसी ने सभी डिजिटल और अन्य सबूतों को भी सीज कर लिया है. चार्जशीट  में कहा गया है कि चौकसी ने अपनी कंपनियों के लिए 142 लेटर ऑफ अंडरटेकिंग और 58 फॉरेन लेटर ऑफ क्रेडिट बनवाए थे, जिनकी कुल कीमत लगभग 7 हजार करोड़ थी. बता दें कि इस घोटाले के कारण पंजाब नेशनल बैंक को भारी घाटे का सामना करना पड़ा है. मंगलवार को बैंक ने मार्च तिमाही के लिए अपने नतीजे घोषित किए हैं, जिनके मुताबिक इस तिमाही में पीएनबी को 13417 करोड़ रुपए का भारी घाटा हुआ है. 

Source : agency