जहानाबाद
 
पटना- गया रेलखंड पर दुर्घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है।  सोमवार की रात पैसेंजर ट्रेन में एक जज की पिटाई का मामला थमा भी नहीं था कि मंगलवार की सुबह सेवनन गांव के समीप ट्रेन से गिरकर एक युवक की मौत से बवाल मचा हुआ है। शव की पहचान होते ही उसके परिजन और ग्रामीण आक्रोशित हो गए हैं। गुस्साए परिजनों ने पटना- गया रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन बाधित कर दिया है।

इधर आक्रोशित लोगों ने पटना गया नेशनल हाईवे को भी सेवनन के पास जैम कर दिया।परिजन रेलवे प्रशासन से तुरंत मुआवजा देने और इस घटना की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग पर अड़े हैं। युवक की पहचान शकुराबाद के बंटी कुमार के रूप में हुई है।

मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार की सुबह सेवनन गांव के समीप रेलवे ट्रैक के पास एक युवक की लाश पड़ी थी। लाश मिलने की सूचना मिलते ही आसपास के लोग वहां जमा हो गये। लोगों ने ट्रेन का परिचालन बाधित करने के साथ-साथ पटना गया मुख्य सड़क मार्ग NH 83 को भी जाम कर दिया। हालांकि युवक की मौत को लेकर संशय बना हुआ है। 

ट्रेनों का परिचालन बाधित होने की सूचना मिलते हैं आरपीएफ इंस्पेक्टर राकेश रंजन और जीआरपी थाना प्रभारी शकुंतला किश्कु घटनास्थल पर पहुंचकर परिजनों को समझाने का प्रयास कर रहे हैं। इस संबंध में कोई भी पदाधिकारी अभी कुछ भी बोलने से इंकार कर रहा है। परिजनों का आरोप है कि अपराधियों ने मोबाइल छीनने का विरोध करने पर उसे ट्रेन से धकेल दिया, जिसके कारण उसकी मौत हो गई। फिलहाल परिचालन बाधित होने से पटना गया रेलखंड के अलग-अलग स्टेशनों पर पैसेंजर ट्रेनें रुकी हुई है। फिलहाल जनशताब्दी एक्सप्रेस सेवनन गांव के समीप पिछले दो घंटे से खड़ी है। गया से पटना जाने वाली 63 244 डाउन सेवनन के समीप रुकी हुई है।

Source : Agency