नई दिल्ली 
पलवल से कुंडली के बीच सफर का समय अगले महीने से आधा हो जाएगा। अगले महीने से 6 लेन का ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे शुरू हो जाएगा, जिससे आपका ट्रैवल टाइम काफी कम हो जाएगा। हालांकि शुरुआत में इस एक्सप्रेसवे से गुजरने में थोड़ी दिक्कतें हो सकती हैं क्योंकि इसपर ईंधन भरवाने के लिए फ्यूल पंप, गाड़ियों की रिपेयरिंग के पॉइंट्स और खाने-पीने के लिए फूड जॉइंट्स नहीं हैं।
 

शनिवार को हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के साथी ने इस एक्सप्रेसवे पर सफर कर जायजा लिया। हमने देखा कि इंजिनियर और कंस्ट्रक्शन वर्कर डेडलाइन तक इसे पूरा करने में कैसे दिन-रात मेहनत कर रहे हैं। शिफ्टों में काम कर इसे 29 अप्रैल तक पूरा करने की कोशिश की जा रही है। 29 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस रोड का उद्घाटन करेंगे। नैशनल हाईवेज अथॉरिटी ऑफ इंडिया(NHAI) के अधिकारियों ने बताया, इस एक्सप्रेसवे से कार के जरिए 135 किलोमीटर का सफर महज 200 रुपये में पूरा किया जा सकेगा जबकि ट्रकों और बसों पर 650 रुपये का खर्च आएगा। हां, अन्य नैशनल हाईवेज के मुकाबले इसका टोल 1.25 गुना अधिक होगा। 

NHAI ने इस रोड पर के इंटरचेंज पॉइंट्स और पुलों पर 28 रंगीन फाउंटेन लगाए हैं, साथ ही ऐतिहासिक महत्व की इमारतों के रेप्लिका लगाए गए हैं। अधिकारी ने बताया, 'हमने एक्सप्रेसवे के किनारे फेंसिंग लगाई है ताकि कोई जानवर इसपर न चढ़ पाए। साथ ही, इस रोड पर स्ट्रीट लाइटें लगाने का काम चल रहा है।' 

 
इस प्रॉजेक्ट के सुपरवाइजर ने बताया कि मॉनसून के बाद यह रोड और खूबसूरत दिखेगा क्योंकि इसके बीचोंबीच पौधे लगाए जाएंगे और हर किलोमीटर के बाद कलर पैटर्न बदल जाएगा। NHAI के चीफ जनरल मैनेजर बीएस सिंग्ला ने कहा कि हाइवे पर 8 कियॉस्क या 'हाइवे नेस्ट' लगाए जाएंगे , जहां से पीने का पानी, चाय-कॉफी और पैकेज्ड फूड लिया जा सकेगा। यह काम 29 अप्रैल से पहले पूरा कर लिया जाएगा। 

 
सूत्रों ने माना कि चंडीगढ़ से इस रोड पर आने वाला ट्रैफिक आसानी से पहुंच सकता है लेकिन कुंडली पर ट्रैफिक जाम का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि हरियाणा सरकार ने अब तक इंटरचेंज तैयार नहीं किया है। 

रोड सेफ्टी ऐस्टिविस्ट अनुराग कुलश्रेष्ठ ने कहा, 'इस रोड पर कमर्शल ऑपरेशल शुरू करने से पहले NHAI को ट्रायल रन रखना चाहिए और सेफ्टी ऑडिट करवाना चाहिए। साथ ही ऐसे इंतजाम करने चाहिए जिससे सड़क पर पार्किंग और फाउंटेन के साथ सेल्फी लेने के चक्कर में हादसों की संभावनाएं खत्म की जा सकें।' 

यूपी में इस रोड का 135 किमी हिस्सा पड़ेगा। गाजियाबाद में एक्सप्रेसवे का कुल 23 किमी हिस्सा है। यह एनएच-91 से जिले में प्रवेश करता है। छह लेन के इस हाइवे का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों प्रस्तावित है। यह कार्यक्रम बागपत जिले में खेकड़ा के पास हो सकता है। अपर जिलाधिकारी ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि कोशिश है कि एक्सप्रेसवे की सारी कमियों को समय रहते दूर कर दिया जाए। 

Source : Agency