हम लोग एक डिजिटल दुनिया में जी रहे हैं। ऐसी दुनिया जहां चारों तरफ डिजिटल उपकरणों का साया है। ऐसी दुनिया जहां रोजाना एक नया डिजिटल उपकरण का अविष्कार किया जा रहा है।

ऐसी इलेक्ट्रोनिक और डिजिटल दुनिया में जीने के लिए हमें इन उपकरणों में घुलना जरूरी है। इन उपकरणों के बारे में जानना जरूरी है।


हम अपने इस आर्टिकल में ऐसे ही एक डिजिटल उपकरण के बारे में बात करेंगे, जिसका उपयोग आजकल हर इंसान लगभग हरेक काम में करता है। कंप्यूटर या विंडो से किसी चीज का आदान-प्रदान करने के लिए (USB) की जरूरत होती है।

यूएसबी/पेन ड्राइव के जरिए हम बहुत सारे मुख्य और महत्वपूर्ण कार्यों को करते हैं। अक्सर यूएसबी को कंप्यूटर में डालते समय हमसे भूल हो जाती है और यूएसबी अंडर नहीं जाता है। हम जब यूएसबी को सीधा करते डालते हैं तभी वो कंप्यूटर के अंदर जाता है।

क्या आपने कभी सोचा है कि ऐसा क्यों होता है? अगर आपने नहीं सोचा तो हम आपको बताते हैं। यूएसबी फ्लैश ड्राइव को हम जितना साधारण समझते हैं या उससे कहीं ज्यादा कारगार होती है। एक यूएसबी फ्लैश ड्राइव के जरिए हम आसानी से किसी भी बड़े-बड़े फाइल्स को एक जगह से दूसरे जगह पर पहुंचा सकते हैं। इसके अलावा हम पोर्टेबल एप को भी चला सकते हैं।

साल 2014 में USB 3.1 टाइप-सी कनेक्टर विकसित किया गया था, जिससे यूएसबी पोर्ट प्रतिवर्ती बनी। हालांकि कंप्यूटर में यूएसबी डिवाइस का उपयोग करना काफी मुश्किल हो रहा था। शुरुआत में काफी मेहनत के बाद इसमें सफलता पाई गई थी।

शुरुआत में यूएसबी फ्लैस ड्राइव का सफल ना होना इसके एक तरफ से काम करने का मुख्य कारण था। यूएसबी फ्लैस ड्राइव को-फाउंडर अजय भट्ट ने कहा था कि, "जब हमने यूएसबी को बनाना शुरू किया था तब हमने और इंटेल कंपनियों के साथी गणों ने भी नहीं सोचा था कि भविष्य में यूएसबी की इतनी जरूरत लोगों को पड़ेगी"।

अजय भट्ट ने बताया कि "सबसे बड़ी समस्या कीमत को लेकर थी। यूएसबी एक ऐसी चीज है जिसकी सीरीज आप लॉन्च नहीं कर सकते हैं। आपको एक ही उपकरण में सभी सुविधाओं को डालने पड़ेगा और इस यूएसबी को बनाते वक्त हमारे बजट और इसकी कीमत का सही समीकरण बैठ नहीं रहा था। इस वजह से यूएसबी फ्लैस ड्राइव के इंसर्ट पोजिशन में एक ही पिन लगाया गया। जिसके कारण यूएसबी एक तरफ से डालने पर ही कंप्यूटर में इंसर्ट होता है"।

यूएसबी फ्लैस ड्राइव के निर्माता ने बताया कि, "जिस वक्त उन्होंने इस ड्राइव को बनाया था, उस वक्त लोगों में तकनीकि और डिजिटल उपकरणों में उतनी दिलचस्पी नहीं थी जितनी आजकल है। इसके साथ-साथ हमारे प्रोडक्ट की कीमत से भी हमे नुकसान होने की संभवाना था। इन्हीं कारणों की वजह से उस वक्त इस तकनीक को विकसित करना हमारे लिए एक रिस्क वाला काम था।"

यूएसबी फ्लैस ड्राइव आजकल के दौर में एक बढ़िया और उपयोगी डिजिटल उपकरण है। इसका उपयोग आयदिन रोजमर्रा की जरूरी कामों में करते हैं। अगर इसे कंप्यूट में दोनों तरफ से इंसर्ट करने की सुविधा होती तो और भी अच्छा होता।

Source : Agency