नई दिल्ली

महिलाओं के खिलाफ लगातार बढ़ रही घटनाओं के मुद्दे पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल पिछले चार दिनों से राजघाट पर अनशन पर बैठी हैं. सोमवार सुबह स्वाति मालीवाल का चेकअप करने के लिए मेडिकल टीम राजघाट पहुंची लेकिन उन्होंने चेकअप नहीं कराने दिया था.

हालांकि, अब स्वाति मालीवाल का मेडिकल चेकअप करा लिया गया है. दोपहर दो बजे बीजेपी नेता शत्रुघ्न सिन्हा उनसे मुलाकात कर सकते हैं. इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर मालीवाल का समर्थन किया है. केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली पुलिस को मालीवाल को परेशान नहीं करना चाहिए.

हालांकि, सोमवार सुबह मालीवाल राजघाट से बाहर आईं. उन्होंने दिल्ली पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस PMO के इशारे पर उनका अनशन तुड़वाने का काम कर रही है.

मालीवाल का कहना है कि वो बिल्कुल ठीक हैं लेकिन दिल्ली पुलिस जबरदस्ती उनका अनशन तुड़वाने की कोशिश कर रही है. स्वाति ने आरोप लगाया कि कुछ पुलिसवालों ने उनसे कहा है कि उनका अनशन तुड़वाने के लिए सीधा पीएम ऑफिस से निर्देश मिले हैं.

स्वाति ने बताया कि अभी उनका कीटोन लेवल उतना ही है जितना 4 दिन के अनशन के बाद होना चाहिए. उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि मोदी जी महिलाओं को कमजोर समझते हैं. स्वाति ने कहा कि उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से एक मेडिकल टीम के गठन की अपील की है. जो उनका चेकअप करे, उन्हें किसी से खतरा नहीं है बस दिल्ली पुलिस से सुरक्षा दिलवाई जाए.

दरअसल, सोमवार सुबह-सुबह अनशन स्थल पर भारी पुलिस बल आया जिसके चलते अनशन स्थल पर सबको फिर इस बात को आशंका हुई कि शायद पुलिस मालीवाल को अनशन स्थल से हटाने आई है. सोमवार सुबह स्वाति मालीवाल राजघाट गईं और वहां कुछ देर के लिए ध्यान लगाने के लिए बैठ गईं. मालीवाल जब राजघाट में मौजूद थीं उसी वक़्त दिल्ली पुलिस के आला अधिकारी पुलिस फोर्स के साथ राजघाट के अंदर गए.

केजरीवाल भी पहुंचे थे अनशन में

इस दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी रविवार को समता स्थल पहुंचे थे और स्वाति का समर्थन किया. केजरीवाल ने कहा कि बलात्कार खत्म करने का मुद्दा देश का मुद्दा है. अनशन में शामिल होने पर उन्होंने कहा कि मैं एक बाप हूं अपनी बेटी की सुरक्षा के लिए आया हूं. दिल्ली की महिलाओं की सुरक्षा के लिए आया हूं. उन्होंने कहा कि एक ऐसा सिस्टम बनना चाहिए कि बलात्कार करने से लोग डरें.

Source : Agency