बेंगलुरु 
यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की चप्‍पलों से पिटाई का बयान देने वाले कर्नाटक कांग्रेस के अध्‍यक्ष दिनेश गुंडूराव ने बढ़ते विवाद के बाद रविवार को माफी मांग ली। गुंडूराव ने कहा कि रेप पीड़िताओं की पीड़ा को देखकर वह भावुक हो गए थे और इसी भावुकता में आकर उन्‍होंने भाषण दिया था। गुंडूराव ने कहा कि यदि किसी को उनके भाषण से दुख पहुंचा है तो वह माफी मांगते हैं।

गुंडूराव ने कहा, 'रेप पीड़िताओं की पीड़ा और योगी आदित्‍यनाथ सरकार की लापरहवाही देखकर मैं भावनाओं में बह गया और भाषण दिया। अगर किसी को मेरे बयान से दुख पहुंचा है तो वह माफी मांगते हैं लेकिन यूपी में कानून का दुरुपयोग बेहद गंभीर मुद्दा है।' बता दें, चुनावी राज्‍य कर्नाटक में आदित्‍यनाथ को लेकर दिए एक विवादित बयान से कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्‍यक्ष गुंडूराव योगी विवादों में आ गए थे। 

बीजेपी ने गुंडूराव के इस बयान को हिंदू विरोधी बताया था और रविवार को विरोध- प्रदर्शन किया। पार्टी ने कहा कि कांग्रेस ने न केवल योगी आदित्‍यनाथ बल्कि पूरे हिंदू समुदाय का विरोध किया है। दरअसल, शुक्रवार शाम को यूपी और जम्‍मू-कश्‍मीर में रेप की घटनाओं के विरोध में आयोजित कैंडल मार्च में गुंडूराव ने भी हिस्‍सा लिया। इस दौरान उन्‍होंने योगी आदित्‍यनाथ पर भी तीखा हमला बोला। उन्‍होंने कहा, 'वह योगी नहीं हैं, ढोंगी हैं। प्रधानमंत्री को उन्‍हें बर्खास्‍त कर देना चाहिए।' गुंडूराव यहीं पर नहीं रुके। उन्‍होंने कहा कि योगी अगर दोबारा कर्नाटक आएं तो उन्‍हें वापस भेज देना चाहिए। 

गुंडूराव ने कहा, 'यदि योगी आदित्‍यनाथ अगली बार कर्नाटक आएं तो उन्‍हें आपके चप्‍पलों से पीटा जाना चाहिए। उन्‍हें वापस भेज देना चाहिए।' कांग्रेस के प्रदेश अध्‍यक्ष का यह बयान जैसे ही मीडिया में आया बीजेपी हमलावर हो गई। पार्टी के महासचिव रवि कुमार ने कहा कि बीजेपी कांग्रेस पार्टी के अध्‍यक्ष राहुल गांधी से माफी की मांग करती है। एन. रविकुमार ने कहा कि पार्टी ने इसकी शिकायत चुनाव आयोग से भी की है। 

बीएस येदियुरप्‍पा ने भी हमला बोला 
कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष के इस विवादित बयान पर राज्‍य में बीजेपी के सीएम पद के प्रत्‍याशी बीएस येदियुरप्‍पा ने भी हमला बोला। उन्‍होंने कहा, 'गुंडूराव के योगी आदित्‍यनाथ को लेकर इस्‍तेमाल किए गए शब्‍दों से मैं चकित हूं। यह पूरी तरह से नाथ संप्रदाय के संत और एक मुख्‍यमंत्री का अपमान है। कर्नाटक में नाथ संप्रदाय को मानने वाले लाखों लोग इसे माफ नहीं करेंगे। मेरी आपकी और आपके पार्टी की संस्‍कृति से पूरी सहानुभूति है।' 

इस बीच बीजेपी ने ट्विटर पर भी गुंडूराव पर हमला बोला। कर्नाटक बीजेपी ने ट्वीट कर कहा, 'राव जी आपका मुसलमानों के प्रति प्‍यार निश्चित रूप से हिंदू संतों के प्रति घृणा में नहीं बदलना चाहिए। जब आपने यह कहा कि योगी आदित्‍यनाथ को चप्‍पलों से पीटा जाना चाहिए तो आप क्‍या सोच रहे थे ? हिंदू विशेषकर कर्नाटक के वोक्‍कालिंगा उन्‍हें काफी मानते हैं। आपने अपने घृणापूर्ण बयान से पूरे समुदाय का अपमान किया है।' 

बीजेपी ने कहा, 'गुंडूराव के तर्क के हिसाब से कर्नाटक में रेप के 3857 मामले चल रहे हैं। क्‍या राज्‍य के मुख्‍यमंत्री सिद्धारमैया को चप्‍पलों से पीटा जाना चाहिए ? योगी नाथ समुदाय के पूजनीय संत हैं और आप अपनी जुबान को लगाम दें।' बीजेपी के इस ट्वीट पर गुंडूराव ने भी जवाब दिया। उन्‍होंने अपनी बात पर कायम रहते हुए सफाई दी। 

गुंडूराव ने दी थी सफाई 
गुंडूराव ने कहा, 'कृपया योगी आदित्‍यनाथ के आपराधिक रिकॉर्ड पर नजर डालें। मुझे आश्‍चर्य है कि इस तरह के कितने योगी और संतों का आपराधिक रिकॉर्ड है। क्‍या हमें अब भी उन्‍हें योगी बुलाना चाहिए? आप योगी से तुलना कर हमारे कर्नाटक और भारत के पूजनीय संतों से करके उनका अपमान कर रहे हो।' गुंडूराव ने कहा कि बीजेपी के नेता इसलिए परेशान हो रहे हैं कि क्‍योंकि वे चाहते हैं कि योगी कर्नाटक आएं और हमारे सीएम तथा राज्‍य का अपमान करें। 

Source : Agency