प्रधानमंत्री कार्यालय (पी.एम.ओ.) ने सभी मंत्रियों से कहा है कि वे अपनी उपलब्धियों को सूचीबद्ध करें और मई, 2014 के लोकसभा चुनावों के घोषणा पत्र के दौरान भाजपा द्वारा दिए गए आश्वासनों की तुलना करें। इस संबंध में 4 मंत्री सदस्यीय कमेटी बनाई गई है जिसमें रेलवे मंत्री पीयूष गोयल, सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी, देहाती विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और पैट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान शामिल हैं, उसे कहा गया है कि वह 20 अप्रैल तक अपने 4 वर्षों की प्रगति रिपोर्ट सौंपे। प्रधानमंत्री 3 दिन की यात्रा पर ब्रिटेन जा रहे हैं और वह 20 अप्रैल की रात को वापस लौटेंगे। वह मंत्री स्तर की रिपोर्ट का अध्ययन करना चाहते हैं और मई में 3 सप्ताह के लिए मीडिया के जरिए चुनावी जंग शुरू की जाएगी।
 यह प्रस्ताव 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए पार्टी की तैयारी के रूप में देखा जा रहा है। मोदी को काले धन से मुकाबला करने, स्मार्ट सिटी में वृद्धि, गंगा की सफाई, रोजगार, आर्थिक सुधार, एफ.डी.आई., गरीबों के लिए एल.पी.जी., मुफ्त शिक्षा और उच्च शिक्षा के लिए बैंक ऋण तथा अन्य योजनाओं की उपलब्धियों का उल्लेख करने की उम्मीद है। मोदी सरकार की उपलब्धियों की एक बुकलैट बनाई जाएगी जिसका बड़े पैमाने पर वितरण किया जाएगा। सूचना और प्रसारण मंत्रालय प्रैस सूचना ब्यूरो (पी.आई.बी.) की सूचना का इस्तेमाल कर इस पुस्तक का प्रकाशन कर उसे लोगों में वितरित करेगा। मंत्रियों से यह भी कहा गया है कि वे राजनीतिक संभावनाओं के साथ अपनी स्थिति रिपोर्ट तैयार करें और इस बात का खूब प्रचार करें कि सरकार की योजनाओं से जनता को कितना लाभ हुआ है।

Source : Agency