गरियाबंद
छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में एक स्वीपर शिक्षक की जिम्मेदारी निभा रहा है.स्वीपर ने जब स्कूल में शिक्षकों की कमी से बच्चों की पढ़ाई बिगड़ते देखी तो दुखी होकर खुद ही बच्चों को पढ़ाना शुरु कर दिया.

मामला देवभोग विकासखंड के दीवानमुडा मिडिल स्कूल है. यहां का मिडिल स्कूल पिछले दो सालों से एक ही शिक्षक के भरोसे संचालित हो रहा है. यहां अध्ययनरत 103 बच्चों को एक शिक्षक संभाल रहा था. बच्चों को संभालने में जब शिक्षक को मुश्किल हुई तब स्वीपर राजूराम यादव ने आगे आकर मदद की.

12वीं पास स्वीपर राजूराम यादव ने दीवानमुडा मिडिल स्कूल के 103 बच्चों को पढ़ाना शुरु कर दिया.राजू पिछले कई महीनों से तीनों कक्षाओं में समाजिक विज्ञान, हिन्दी और संस्कृति विषयों को पढ़ा रहा है.उनके पढ़ाने के तरीके से बच्चे काफी खुश है. मिडिल स्कूल में पदस्थ शिक्षक भी उनकी तारीफ करते नहीं थकते.

Source : Agency