बिहार
बिहार विधानसभा की दो सीटों समेत एक लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव के नतीजे बस कुछ ही घंटों में सबके सामने होंगे. मतगणना के शुरुआती रुझानों में आरजेडी को बढ़त मिलती दिख रही है. 2019 लोकसभा चुनाव के पहले अररिया लोकसभा, जहानाबाद विधानसभा और भभुआ विधानसभा पर हुए उपचुनाव का परिणाम कई मामलो में खास है.

बात करते हैं बिहार राजनीति में अपनी मजबूत धमक बढ़ाने की ओर कदम बढ़ा रहे लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे व नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की, जिनके लिए यह परिणाम उनके भविष्य की पठकथा लिख सकता है. उपचुनाव के परिणाम अगर आरजेडी के पक्ष में आते हैं तो निश्चित ही तेजस्वी ड्राइविंग सीट पर बैठने के लिए तैयार माने जाएंगे. आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के जेल में रहने के बाद से ही जिस तरह तेजस्वी पार्टी की लीडिंग फ्रॉम फ्रंट की भूमिका में आकर विरोधियो को जवाब दे रहे हैं. यह बताता है कि तेजस्वी अब पारी के लिए तैयार हो गए हैं.
 
अगर चुनाव परिणाम आरजेडी के पक्ष में आता है तो निश्चित ही तेजस्वी का न सिर्फ अपनी पार्टी में बल्कि बिहार की राजनीति में भी कद बढ़ेगा. जिस तरह पिछले दिनों बिहार विधान सभा मे भी तेजस्वी ने बखूबी अपनी बातों को रखा और विपक्ष पर हमला किया है. वह उनके लीडिंग भूमिका को भी दर्शा रहा है. ऐसे में चुनाव परिणाम अगर आजेडी के पक्ष में आता है तो तो तेजस्वी को क्रेडिट जरूर मिलेगा कि पिता के जेल में रहने के बाद भी तेजस्वी ने पार्टी को टूटने नहीं दिया.

Source : Agency