पटना

बिहार में 1 अप्रैल 2016 से शराब की खरीद-बिक्री पर रोक लगा दी गई। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की घोषणा के बाद यह कानून लागू हुआ। भाजपा के राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा ने बिहार में शराबबंदी कानून को लेकर बयान जारी किया है। उन्होंने कहा कि बिहार में शराबबंदी का फैसला तो सराहनीय है लेकिन कानून को लागू करने का तरीका सही नहीं है। 

आरके सिन्हा ने कहा कि शराबबंदी लागू करने का कानून सरकार के नेतृत्व पर कई सवाल खड़ा करता है। शराबबंदी का कानून पूरी तरह से फेल हो गया है। उन्होंने कहा कि सरकार को इस कानून पर दोबारा विचार करना होगा और इसे अधिक प्रभावशाली बनाना होगा। 

बता दें कि आए दिन शराबबंदी पर सवाल खडा़ करता हुआ कोई ना कोई मामला सुनने को मिल ही जाता है। शराब तस्कार अधिकारियों के आंखों में धूल झोंक कर शराब की अवैध खरीद और बिक्री कर रहें हैं। 

Source : Agency