लखनऊ 

अपने विवादित बयानों लेकर चर्चा में रहने वाले राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल के समाजवादी पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल होने पर एसपी संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। मुलायम सिंह ने कहा कि नरेश अग्रवाल के जाने से एसपी को फायदा होगा न कि नुकसान। बता दें, मुलायम सिंह यादव के भाई राम गोपाल यादव के करीबी समझे जाने वाले नरेश अग्रवाल ने राज्य सभा टिकट नहीं मिलने पर सोमवार को एसपी छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया।
 

नरेश अग्रवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में हालांकि SP संरक्षक मुलायम सिंह यादव और रामगोपाल यादव के प्रति सम्मान दिखाया लेकिन यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश में पार्टी का जनाधार कमजोर हुआ है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी प्रमुख अमित शाह की प्रशंसा की और दावा किया कि उनके समुदाय के लोग भगवा दल के साथ मजबूती से खड़े हैं। 

 
उधर, बीजेपी में शामिल होने के दौरान पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में ही वह विवादों में घिर गए। उन्होंने राज्यसभा में जया बच्चन को तरजीह दिए जाने पर SP को निशाना बनाते हुए कहा कि पार्टी ने उनकी तुलना फिल्म अभिनेत्री से की है 'जो फिल्मों में नाचती थीं।’ उनके ऐसा कहते ही वहां मौजूद बीजेपी नेता असहज हो गए और पार्टी ने फौरन इस बयान से खुद को अलग कर लिया। 

 
अग्रवाल के बयान पर केंद्रीय विदेश मंत्री और पार्टी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज ने भी आपत्ति जताई। उन्होंने ट्वीट किया, 'नरेश अग्रवाल भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए हैं। उनका स्वागत है, लेकिन जया बच्चन जी के विषय में उनकी टिप्पणी अनुचित एवं अस्वीकार्य है।' विवाद बढ़ने पर नरेश अग्रवाल ने अपने बयान पर खेद जताया। 
 

अग्रवाल ने मंगलवार को जया पर दिए बयान पर सफाई देते हुए कहा, 'मेरे बयान से किसी को कोई कष्ट हुआ है तो मुझे उसका खेद है। मुझे एसपी ने टिकट देना उचित नहीं समझा और जया को टिकट दिया। मैं किसी विवाद में नहीं पड़ना चाहता हूं और खेद जताता हूं।' उन्होंने कहा, 'मेरे बयान को मीडिया ने अलग तरीके से दिखाया। मेरा किसी को दुख पहुंचाने का इरादा नहीं था। मैं अपने शब्द वापस लेता हूं।' हालांकि पत्रकारों द्वारा बार-बार माफी मांगने के सवाल पर भी अग्रवाल ने अपने बयान के लिए माफी नहीं मांगी। उन्होंने उल्टे पूछा, 'खेद शब्द का मतलब समझते हैं आप?' 

Source : Agency