नई दिल्ली 
दिल्ली में सड़कों पर गाड़ियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए अब सरकार दिल्ली की चुनिंदा सड़कों पर कंजेशन टैक्स लगा सकती है। हालांकि इस तरह का टैक्स एक तय अवधि में ही लगाया जाएगा। देश में पहली बार किसी शहर में इस तरह का टैक्स लगाने की संभावनाओं पर एक्सपर्ट विचार कर रहे हैं। अगर ऐसा होता है तो दिल्ली देश का पहला ऐसा शहर होगा, जहां कंजेशन टैक्स लगाया जाएगा। सरकार ने यह भी कहा है कि दिल्ली के लिए पार्किंग पॉलिसी करीब-करीब फाइनल हो गई है और कभी भी इसे लागू किया जा सकता है।

 

उपराज्यपाल अनिल बैजल ने बताया कि दिल्ली में जिस तरह से ट्रैफिक बढ़ता जा रहा है, उसे देखते हुए दिल्ली की कुछ सड़कों को वनवे करने की जरूरत है। कंजेशन टैक्स लगाए जाने से जुड़े सवालों का जवाब देते हुए उपराज्यपाल ने कहा कि कंजेशन टैक्स लगाने के बारे में विचार किया जा रहा है। इस पर एक्सपर्ट्स लगातार काम कर रहे हैं। लेकिन जब भी इसे लागू किया जाएगा, उससे पहले इस पर तैयार पॉलिसी को जनता के बीच रखा जाएगा और उनसे भी इस पर राय ली जाएगी। कुछ जगह यह भी हो सकता है कि कुछ सड़कों को सिर्फ पैदल राहगीरों के लिए ही रिजर्व किया जाए। फिलहाल एक्सपर्ट्स इस पर अभी काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कंजेशन टैक्स का विश्व के कई शहरों में प्रयोग किया गया है। सिंगापुर में भी कुछ ऐसी भीड़भाड़ वाली सड़कों के लिए यह व्यवस्था है कि अगर कोई वहां गाड़ी लेकर जाता है तो उसे टैक्स देना पड़ता है। इसके लिए इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम काम करता है। 

सरकार ने यह भी कहा है कि उसने पार्किंग पॉलिसी को लगभग फाइनल कर लिया है। इससे पहले सरकार ने पार्किंग पॉलिसी का ड्राफ्ट जनता के बीच रखा था और उस पर लोगों की आपत्तियां व सुझाव भी मांगे थे। इन सुझावों और आपत्तियों के बाद अब सरकार पार्किंग पॉलिसी लगभग तैयार कर चुकी है। उपराज्यपाल ने कहा कि किसी भी वक्त इस पॉलिसी को लागू करने के लिए नोटिफिकेशन जारी किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में यह पहला मौका है, जबकि पार्किंग पॉलिसी बनाई गई है। उन्होंने कहा कि पार्किंग की समस्या को हल करने के लिए बड़े पैमाने पर काम किया जा रहा है। इसके तहत नई पार्किंग बनाने के लिए कुछ जगहों को पहचान लिया गया है। 

Source : Agency