निदाहास ट्रोफी में भारत ने अपनी दूसरी जीत दर्ज की है। सोमवार को कोलंबो के आर. प्रेमदासा स्टेडियम में खेले गए मुकाबले में उसने मेजबान श्री लंका को 6 विकेट से हरा दिया। वर्षा बाधित इस मैच में टॉस जीतकर कप्तान रोहित शर्मा ने श्री लंका को बल्लेबाजी का न्योता दिया। लंकाई टीम ने निर्धारित 19 ओवरों में 9 विकेट खोकर 152 रन बनाए। भारत ने 8 गेंद शेष रहते चार विकेट पर मैच जीत लिया। भारत ने अब तीन में से दो मैच जीत लिए हैं। टूर्नमेंट में तीसरी टीम बांग्लादेश है।
 
दनुष्का गुणाथिलाका (17) तेज खेलते हुए आउट हो गए, तो कुसल मेंडिस ने अपने गेयर बदल दिए। 10 ओवर में श्री लंका 94 रन बना चुकी थी और इनमें 48 रन अकेले मेंडिस के ही थे। 38 बॉल में 55 रन की पारी खेलने वाले मेंडिस ने अपनी टीम के लिए मजबूत आधार सेट किया। उन्होंने अपनी पारी में 3 चौके और 3 छक्के जमाए।
 
एक छोर पर श्री लंका के लिए मेंडिस ने पांव जमा लिए और वह रन भी बरसा रहे थे। लेकिन दूसरे छोर से कोई भी खिलाड़ी लंबा नहीं खेल पा रहे थे। ऐसे में उपुल थारंगा (22) और दसुन शनाका ने (19) रन जोड़े। इन 42 रनों की बदौलत श्री लंका 150 का स्कोर पार कर पाई।
 
अपने इंटरनैशनल करियर का 5वां टी20 मैच खेल रहे शार्दुल ठाकुल ने मेजबान टीम पर शुरू से दबाव बनाकर रखा। उन्होंने इस मैच में 4 ओवर में 27 रन देकर 4 विकेट अपने नाम किए। यह उनके अभी तक टी20 करियर की बेस्ट बोलिंग भी है। ठाकुर को उनकी बोलिंग के लिए मैन ऑफ द मैच भी चुना गया।
 
भारत इस मैच में 22 रन पर अपने दोनों ओपनर्स के विकेट गंवा चुका था। यहां से सुरेश रैना ने चार्ज लेकर टीम को दबाव से उबारने का काम किया। रैना ने 15 बॉल में 27 रन की पारी खेली, जिसमें 2 चौके और 2 छक्के शामिल थे। हालांकि वह नुवान प्रदीप पर दबाव बनाने के प्रयास में आउट हो गए। लेकिन वह तब तक भारत की को पटरी पर ला चुके थे।

Source : Agency