लंदन
ब्रिटिश की प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने कहा कि इस बात की प्रबल संभावना है कि एक रूसी जासूस को जहर देने के पीछे रूस का हाथ है। बीबीसी के मुताबिक जहर देने की इस घटना से जुड़ी खुफिया जानकारियों के आकलन के लिए आज राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक हुई जिसकी की अध्यक्षता प्रधानमंत्री ने की। मे ने कहा कि सरकार इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि पूर्व जासूस सर्गई स्क्रेपल और उनकी बेटी यूलिया पर हमले के पीछे रूस हाथ होने की प्रबल संभावना है। स्क्रेपल और उनकी बेटी यूलिया पर बीते चार मार्च को जहर देकर निशाना बनाया गया था। इससे पहले रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने कहा कि डबल एजेंट पर हमले के मामले में मॉस्को के साथ बातचीत करने से पहले ब्रिटेन को अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए। 

Source : agency