अबूजा 
नॉर्थ कोरिया ने अमेरिका के साथ बातचीत करने पर सहमति तो जता दी है पर आगे की राह उतनी आसान नहीं दिख रही है। अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने सोमवार को कहा कि US और नॉर्थ कोरिया के बीच वार्ता की लोकेशन और अजेंडे पर सहमति के लिए अभी कई कदम उठाए जाने बाकी हैं। हाल ही में दक्षिण कोरिया ने कहा था कि प्योंगयांग ने कहा है कि अगर उसे सुरक्षा की गारंटी मिले तो वह अपने परमाणु हथियार छोड़ने के लिए भी तैयार है। साथ ही नॉर्थ कोरिया के वार्ता के लिए राजी होने की बात भी सामने आई थी।

टिलरसन का यह बयान काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि वह अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और नॉर्थ कोरिया के लीडर किम जोंग-उन के बीच संभावित वार्ता पर US प्रशासन के भीतर हो रही चर्चाओं में शामिल हैं। नाइजीरिया की राजधानी अबुजा की यात्रा के दौरान उन्होंने कहा, 'वार्ता के लिए लोकेशन और उन चर्चाओं के अजेंडे को लेकर अभी कई कदम उठाने होंगे। यह अभी शुरुआती स्टेज में है।' 

अमेरिका के विदेश मंत्री ने आगे कहा, 'हमने तो अभी नॉर्थ कोरिया की तरफ से कुछ भी नहीं सुना है लेकिन हम उम्मीद करते हैं कि सीधे उनकी तरफ से जल्द कुछ सुनने को मिलेगा।' वह 5 अफ्रीकी देशों की एक सप्ताह की यात्रा के समापन पर बोल रहे थे। हालांकि टिलरसन ने यह नहीं बताया कि वार्ता के लिए कौन से कदम उठाए जाने बाकी हैं? उन्होंने संभावित जगहों पर टिप्पणी करने से भी इनकार कर दिया। 

गौरतलब है कि अमेरिका और नॉर्थ कोरिया के टॉप नेताओं के बीत यह पहली फेस-टु-फेस मुलाकात होगी। माना जा रहा है कि अगर यह मुलाकात होती है तो कई वर्षों से कोरियाई क्षेत्र में बढ़ रहा तनाव कम हो सकता है। दरअसल, पूरा विवाद नॉर्थ कोरिया के परमाणु और मिसाइल कार्यक्रम को लेकर है। बताया जा रहा है कि विदेश मंत्री के तौर पर पहले अफ्रीकी दौरे पर गए टिलरसन ने अपनी यात्रा एक दिन पहले ही समाप्त कर दी। वह किसी जरूरी काम के चलते वॉशिंगटन लौट रहे हैं। 

Source : agency