वाशिंगटन
 
 
अमेरिका के हवाई राज्य में उस समय अफरा तफरी मच गई जब मिसाइल हमले के अलर्ट फ्लैश होने लगा। हालांकि बाद में पता चला कि यह अलर्ट गलती से फ्लैश हो गया था। राज्य प्रशासन जब तक मामला समझ पाता तब तक देर हो चुकी थी और लोग अलर्ट को असली समझते हुए सुरक्षित ठिकानों की तलाश में भागने लगे। हवाई स्टेट गवर्नर ने माफी मांगते हुए कहा कि यह स्थिति एक कर्मचारी के गलत बटन दबाने से पैदा हुई। अमेरिका की उत्तर कोरिया से चल रही तनातनी के बीच मिसाइल हमले के अलर्ट को लोगों ने सच समझने में देर नहीं लगाई।
क्या था अलर्ट 
हवाई के लोगों को मोबाइल पर मेसेज मिला जिसमें लिखा था, 'हवाई में बलिस्टिक मिसाइल हमले का खतरा। जल्द से जल्द सुरक्षित स्थान पहुंचे। यह अभ्यास नहीं है।' रेडियो और टीवी पर भी यही अलर्ट ब्रॉडकास्ट हुआ। उत्तर कोरिया के मिसाइल हमले की धमकियों के कारण हवाई को संवेदनशील मानते हुए अलर्ट सिस्टम तैयार किया गया था। दिसंबर में अमेरिका ने परमाणु हमले के साइरन की टेस्टिंग भी की थी। ऐसा शीत युद्ध के खत्म होने के बाद पहली बार हुआ था। हवाई के गवर्नर ने बताया कि स्टेट इमर्जेंसी मैनेजमेंट एजेंसी में शिफ्ट चेंज के दौरान एक प्रक्रिया के तहत सभी सिस्टम को चेक किया जाता है। इसी दौरान किसी कर्मचारी ने गलट बटन दबा दी।

Source : Agency