गोरखपुर 
 11 से 13 जनवरी तक चलने वाले गोरखपुर महोसव का आज समापन हो गया। इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहे। महोत्सव के समापन अवसर पर विभिन क्षेत्रों में उत्कृष्ट योगदान करने वालों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में महिला कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी भी मौजूद रहीं। 

इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बहुत लोगों की आदत होती है कुछ न कुछ बोलना, लेकिन गोरखपुर महोत्सव ने दिखाया कि इसकी क्या पहचान है। अन्य महोत्सवों को भी लोगों ने देखा है लेकिन इस महोत्सव में हर वर्ग हर क्षेत्र के लोगों को जोडऩे का प्रयास हुआ, इसी तरह का आयोजन आगे होना चाहिए। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मैने रामगढ़ताल का दौरा इसलिए किया कि रामगढ़ ताल विश्व पर्यटन की दिशा में आगे बढ़ सके, गोरखपुर को भी आगे बढऩा चाहिए,यूपी के हर गाव शहर को बढऩा चाहिए। 

हमारा प्रयास है कि रामगढ़ताल पर्यटन के मानचित्र पर उभर कर आये। गोरखपुर महोत्सव को हर वर्ग का साथ मिला। प्रदेश सरकार ने इस पर बहुत कम पैसा खर्च किया। कपिलवस्तु महोत्सव और अयोध्या में दीपावली पर आयोजित दीपोत्सव पर भी ऊंगली उठाई गई, लेकिन लोग एक महोत्सव पर जितना खर्च कर देते हंै हमने उससे कम ही किया हैै। ये किसी परिवार का महोत्सव नहीं ये पुरे गोरखपुर समाज का महोत्सव है। लोगों को तब भी बुरा लगेगा जब हम बरसाना में होली मनाएंगे, चित्रकुट में संकीर्तन और गुहाराज की जयंती मनायेंगे। ये दृष्टि दोष है इसका जनता समय आने पर जवाब देती है। 

Source : Agency