नोएडा

दिल्ली से सटे नोएडा में दो करोड़ की रंगदारी मांगने वाले बदमाशों और पुलिस के बीच जमकर गोलीबारी हुई. नोएडा के सेक्टर 81 के फेस 2 इलाके में हुई मुठभेड़ में दो बदमाशों के पैर में गोली लगी और एक बदमाश मौके से गिरफ्तार किया गया.

पुलिस के मुताबिक, बदमाशों ने उमेश विज नाम के व्यापारी से दो करोड़ की रंगदारी की मांग की थी. रंगदारी न देने पर बदमाशों ने नोएडा में दिल्ली के व्यापारी उमेश विज की कार पर फायरिंग की. हालांकि, वो वहां से बच निकले. इसके बाद उन्हें बदमाशों की तरफ से धमकी भरे फोन आने लगे और जान बचाने की एवज में दो करोड़ की रंगदारी की मांग की.

घबराए उमेश ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. पुलिस ने मामले की जानकारी मिलने के बाद बदमाशों के फोन को ट्रैक करना शुरू किया और सर्विलांस के जरिए उनके मूवमेंट पर नजर रख रहे थे. शनिवार शाम की शाम पुलिस को बदमाशों के लोकेशन का पता चला. इसके बाद पुलिस ने जैसे ही बदमाशों को घेरा उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी.

जवाब में पुलिस ने भी फायरिंग की. दोनों तरफ से काफी देर तक फायरिंग होती रही. इस मुठभेड़ में 2 बदमाशों को गोली लगी है. जबकि एक बदमाश को गिरफ्तार कर लिया गया. मुठभेड़ में घायल बदमाशों का नाम आजाद और विकास है. ये यूपी के बागपत के रहने वाले हैं. इनके एक और संजू नाम के साथी को भी पुलिस ने मौके से गिरफ्तार किया है.

संजू विकास का बहनोई हैं. वर्तमान में संजू गढ़ी चौखंडी में किराए पर रहता है. बाकी के बदमाश उसी के पास आकर ही रुकते थे. पुलिस की पूछताछ में खुलासा हुआ कि इस घटना का मास्टर माइंड अरविंद ड्राइवर है जो व्यापारी उमेश की गाड़ी चलाया करता था. उमेश ने उसे 2 साल पहले नौकरी से निकाल दिया था.

अरविंद ने ही बदमाशों को बताया था कि उमेश विज बहुत ही डरपोक है, अगर तुम लोग उसकी गाड़ी पर फायर कर दोगे तो वो डर के मारे जो तुम मांगोगे दे देगा. इसलिए 8 जनवरी की रात में बदमाशों ने उमेश की गाड़ी पर फायरिंग की और उसके बाद रंगदारी मांगी थी.

बिजनेसमैन का ड्राइवर इन बदमाशों के साथ मिलकर इस साजिश को अंजाम दे रहा था. पुलिस फिलहाल इनसे पूछताछ कर रही है. घायल बदमाशों को इलाज के अस्पताल भिजवा दिया गया है. पकड़े गए बदमाश से पूछताछ जारी है. अरविंद की तलाश में टीम रवाना कर दी गई है.

Source : Agency