नई दिल्ली


दिल्ली के बवाना की नहर में डूब रही एक लड़की को बचाकर CRPF के जवानों में मिसाल कायम की है. शनिवार दोपहर को अचानक एक लड़की बवाना नहर में गिर गई. वह नहर में डूब रही थी और सिर्फ उसका हाथ दिखाई दे रहा था. जब नहर के समीप CRPF कैंप के मचान पर तैनात जवानों ने यह देखा, तो लड़की को बचाने के लिए फौरन नहर में छलांग लगा दी.

उन्होंने रस्सों की सहायता से कुछ ही सेकंडों में लड़की को नहर से बाहर निकाल लिया. इसके बाद लड़की को फौरन प्राथमिक उपचार दिया गया और फिर महर्षि बाल्मीकि अस्पताल में भर्ती कराया गया. फिलहाल लड़की का इलाज चल रहा है और वह खतरे से बाहर है.

इस तरह CRPF के जवानों की वजह से लड़की की जान बच गई. अगर वो इतना अलर्ट न होते, तो यह लड़की नहर में डूब जाती. इस पर लड़की के परिजनों ने जवानों का शुक्रिया अदा किया. परिजनों का कहना है कि इन जवानों की बदौलत ही आज हमारी लड़की जीवित है. CRPF के जवानों के इस मानवता के काम की जमकर तारीफ हो रही है.

नहर किनारे मंदिर में पूजा करने आई थी लड़की

18 वर्षीय लक्ष्मी दिल्ली से सटे हरियाणा की प्याऊ मनियारी गांव से बवाना में नहर किनारे मंदिर में पूजा के लिए आई थी. इस मंदिर में शनिवार के दिन काफी संख्या में श्रद्धालु आते हैं. लक्ष्मी भी हर शनिवार को इस मंदिर में पूजा के लिए आती है. इस मंदिर के पास दो नहरें हैं. दोनों नहर के बीच से यह रास्ता है. परिजनों की मानें तो लक्ष्मी का पांव फिसल गया था और वह गहरी नहर में जा गिरी.

लक्ष्मी को डूबता देख जवानों ने लगा दी छलांग

परिजनों ने बताया कि जहां पर लक्ष्मी गिरी थी, वहीं बगल में ही CRPF का कैंप है. कैंप के चारों तरफ सुरक्षा के लिए ऊंचे-ऊंचे मचान भी बनाए गए हैं. एक ऊंचे मचान से एक जवान ने नहर में डूबती हुई लक्ष्मी को देखा और तुरंत मचान से छलांग लगाकर नीचे आया. उसने इसकी जानकारी दूसरे जवानों को भी दी और फिर उन्होंने रस्सी की मदद से लक्ष्मी को बाहर निकाला. उसको सीआरपीएफ कैंप में बने क्लिनिक में प्राथमिक उपचार दिया गया और फिर महर्षि वाल्मीकि अस्पताल को रेफर कर दिया गया.

Source : Agency