ग्वालियर 
जिले के सभी राजस्व अधिकारी इस आशय का प्रमाण-पत्र दें कि उनके न्यायालय में 5 जनवरी की स्थिति में आरसीएमएस (रेवेन्यू कोर्ट मॉनीटरिंग सिस्टम) में दर्ज होने से कोई भी प्रकरण शेष नहीं है। यह निर्देश कलेक्टर राहुल जैन ने राजस्व प्रकरणों के निराकरण की समीक्षा के दौरान राजस्व अधिकारियों को दिए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि जिन राजस्व निरीक्षकों के यहाँ तीन माह से अधिक अवधि के प्रकरण लंबित हैं, उनकी विभागीय जाँच के लिये आरोप पत्र जारी करें। शनिवार को यहाँ कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित हुई बैठक में कलेक्टर जैन ने स्पष्ट किया कि तीन माह से अधिक अवधि तक निराकरण से यदि राजस्व प्रकरण लंबित रहा तो संबंधित राजस्व अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा कि मुख्य सचिव जल्द ही ग्वालियर जिले में भी तृतीय चरण की समीक्षा बैठक करने आयेंगे। इसलिये सभी राजस्व अधिकारी द्वारा पूर्व बैठकों में दिए गए निर्देशों पर शत प्रतिशत अमल सुनिश्चित करें। जैन ने कहा कि राजस्व अधिकारी अपने-अपने कार्यालयों में रखे पुराने बस्तों की बारीकी से जाँच करें। साथ ही पुराने रिकॉर्ड को रिकॉर्ड रूम में जमा करायें। 

कलेक्टर ने कहा अदम पैरवी में खारिज किए गए प्रकरणों की समीक्षा करें और जो प्रकरण सुनवाई योग्य हों, उनको फिर से सुनवाई में लें। साथ ही इसकी सूचना संबंधित आवेदक को भी दी जाए। उन्होंने सभी राजस्व कार्यालयों में इस आशय की सूचना प्रदर्शित करने के निर्देश भी दिए कि निराकृत राजस्व प्रकरण आरसीएमएस सॉफ्टवेयर में देखे जा सकते हैं। जिससे लोगों को अपने प्रकरण का पता लगाने के लिये इधर-उधर भटकना न पड़े। बैठक में अपर कलेक्टर दिनेश श्रीवास्तव सहित जिले के सभी अनुविभागीय राजस्व अधिकारी, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, अधीक्षक भू-अभिलेख एवं राजस्व निरीक्षक मौजूद थे। 

सरकारी जमीन बचाने के लिये पुख्ता साक्ष्य रखें
राजस्व अधिकारियों की बैठक में कलेक्टर ने जोर देकर कहा कि सरकारी जमीन को बचाने के लिये न्यायालय में पुख्ता साक्ष्य रखें। साथ ही सरकारी जमीन से संबंधित प्रकरणों में अपील दायर करने में कदापि देरी न हो, अन्यथा इसके लिये संबंधित राजस्व अधिकारी को जवाबदेह मानकर सख्त कार्रवाई की जायेगी। 

मशीन से सीमांकन न करने वाले सभी आरआई को मिलेगी चार्जशीट
कलेक्टर राहुल जैन ने सभी राजस्व निरीक्षकों को निर्देश दिए कि वे टीएसएम (टोटल स्टेशन मशीन) से सीमांकन करें। जो आरआई ऐसा नहीं करेंगे, उन्हें चार्जशीट जारी की जायेगी। साथ ही जिनके यहाँ तीन माह से अधिक अवधि के राजस्व प्रकरण लम्बित मिलेंगे, उनकी विभागीय जाँच की जायेगी। कलेक्टर ने कहा जो राजस्व निरीक्षक एक माह में टीएसएम से 15 से अधिक सीमांकन करेंगे, उन्हें गणतंत्र दिवस के अवसर पर सम्मानित किया जायेगा। 

यह भी निर्देश दिए

  • 26 जनवरी से आयोजित होने वाली हर गाँव में ग्राम सभायें आयोजित कर खसरा व बी-1 का वाचन करायें।
  • मोबाइल एप में गिरदावरी फीड करने में उदासीनता न हो।
  • सीएम हैल्पलाइन में आईं शिकायतों का सकारात्मक निरीक्षण करें, जिससे शिकायतकर्ता संतुष्टि हों।
  • डायवर्सन, नजूल, भू-भाटक इत्यादि राजस्व वसूली में तेजी लायें। बड़े बकायादारों को लक्ष्य कर करें वसूली।
Source : Agency