भोपाल 
राज्यमंत्री सूर्यप्रकाश मीणा ने शुक्रवार को ग्राम देवखजूरी में चौपला कार्यक्रम के माध्यम से ग्रामीणजनों की समस्याएं मध्य रात्रि तक सुनी और उनका समाधान कराया। राज्यमंत्री ने चौपाल कार्यक्रम में ही योजनाओं से लाभांवित होने वाले हितग्राहियों को सामग्री, चेक स्वीकृति पत्र प्रदाय किए है। राज्यमंत्री मीणा ने ग्रामवासियों से कहा कि गांव में ही उनकी समस्याओं का समाधान हो इसके लिए जिले में हर संभव प्रयास किए जा रहे है। प्रशासन द्वारा सतत समस्या निवारण शिविरों का आयोजन तथा जनसुनवाई की जा रही है। वही मेरे द्वारा भी प्रत्येक शुक्रवार को नटेरन और शमशाबाद में आमजनों से भेंट कर उनकी समस्याओं का निदान किया जा रहा है। 

रात्रि चौपाल के आयोजन पर प्रकाश डालते हुए राज्यमंत्री मीणा ने कहा कि गांव के ऐसे ग्रामबंधु जो दिन में अपने कार्यो, रोजगार के लिए बाहर चले जाते है और शाम को घर आते है ऐसे सभी ग्रामीणजनों की समस्याओं से गांव में ही अवगत होकर उनका समाधान गांव में ही कराना है। राज्यमंत्री मीणा ने ग्रामवासियों से कहा कि वे अपने बच्चों को नियमित स्कूल भेंजे इसी प्रकार ग्राम में जिन शासकीय विभागों के माध्यम से सेवाएं दी जा रही है उनकी क्रास मॉनिटरिंग करें। खासकर आंगनबाडी केन्द्रों में बच्चों को समय पर पोषण आहार व अन्य सामग्री प्रदाय हो रही है कि नही पर नजर जरूर रखें। उन्होंने कहा कि ग्रामीणजनों की जनजागरूकता से अनेक योजनाओं के क्रियान्वयन में अपेक्षित परिणाम परलिक्षित होने लगेंगे। 

राज्यमंत्री एवं अन्य अतिथियों के द्वारा रात्रि चौपाल कार्यक्रम के दरमियान 22 हितग्राहियों को भू-खण्डधारी प्रमाण पत्र प्रदाय किए गए। पांच को राष्ट्रीय परिवार सहायता, दस को पेंशन, तीन को उज्जवला गैस कनेक्शन, श्रम विभाग की योजना के तहत दो हितग्राहियों को साइकिले प्रदाय की गई वही सामाजिक न्याय विभाग के माध्यम से हितग्राहियों को श्रवण यंत्र मौके पर प्रदाय किए गए है। एसडीएम रविशंकर राय ने ग्रामीणों से कहा कि उनकी जो भी सार्वजनिक एवं व्यक्तिगत समस्याएं हो वे इस प्रकार के आयोजन का इंतजार ना करें बल्कि क्षेत्र में भ्रमण पर आने वाले राजस्व अमले की जानकारी में अवश्य लाएं चाहे वह समस्या किसी अन्य विभाग से संबंधित हों। राय ने राजस्व विभाग के माध्यम से सम्पादित होने वाले कार्यो की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अब जिले में सीमांकन संबंधी कार्य टोटल मशीन से किया जाने लगा है। अतः अनुविभाग क्षेत्र में अब एक भी प्रकरण सीमांकन का लंबित नही है यदि किसी व्यक्ति का सीमांकन संबंधी प्रकरण लंबित रहता है तो उसकी सूचना देने वाले व्यक्ति को शासन के द्वारा जारी दिशा निर्देशों के अनुसार राशि मुहैया कराई जाएगी। 

एसडीएम राय ने ग्रामीणों से कहा कि वे शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन में सहयोगात्मक रवैया अपनाते हुए गांव के सुपात्रों को लाभ दिलाने में आगे आएं। वही ऐसे व्यक्ति जो पात्रता नही रखते है और योजनाओं का लाभ ले रहे है उनका नाम पात्रता सूची से अलग कराने व हटाने में बढ़ चढकर भाग लें। रात्रि चौपाल में खाद्य विभाग के अधिकारी द्वारा प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के साथ-साथ अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्ग के ऐसे परिवार जिन्हें हाल ही में पात्रता जारी की गई है उन सभी को उचित मूल्य दुकानों के माध्यम से राशन प्रदाय कराया जा रहा है यदि 15 तारीख तक राशन नही मिलता है तो विभाग की जानकारी में अवश्य लाएं। इस दौरान अन्य विभागों के खण्ड स्तरीय अधिकारियों द्वारा विभागीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी ग्रामीणजनों को दी गई। चौपाल कार्यक्रम में मध्य रात्रि तक जनप्रतिनिधियों के अलावा नायब तहसीलदार सौरभ वर्मा, सहायक आपूर्ति अधिकारी विजय सलोदे एवं अन्य विभागों के खण्ड स्तरीय अधिकारी एवं ग्रामीणजन मौजूद थे।

Source : Agency