मुंबई

विद्या बालन की फिल्म 'तुम्हारी सुलु' हिट हुई है. फिल्म में उनके शानदार अभिनय की सभी ने तारीफ की है. हाल ही में विद्या ने कहा कि अब लोग फिल्मों को लेकर काफी सेलेक्टिव हो गए हैं. वो स्टार्स की जगह फिल्म के कंटेंट को अहमियत देते हैं और पैसा खर्च करते हैं.

एक इंटरव्यू के दौरान एक्ट्रेस ने कहा, अब स्टार्स लोगों के बीच में काफी कॉमन हो गए हैं. लोग अब बहुत समझदारी से ये फैसला लेते हैं कि उन्हें किस फिल्म पर अपना पैसा और अपना टाइम खर्च करना है. लोग अब हीरो-हिरोइन को देखने थियेटर नहीं जाते. उसके लिए सोशल मीडिया ज्यादा बेहतर माध्यम है.

विद्या ने फिल्म 'लिपिस्टिक अंडर माई बुर्खा' का उदाहरण देते हुए ये कहा, महिलाओं पर आधारित ये फिल्म काफी अटकलों के बाद सिनेमाघरों में दिखाई गई. फिल्म सेक्सुअल मुद्दों पर बनी थी. मगर अच्छे कंटेंट और स्क्रिप्ट की वजह से इसे काफी दर्शक मिले और लोगों ने फिल्म की सराहना की.

उन्होंने कहा, मैं इस बारे में ज्यादा ध्यान नहीं देती कि टीवी या न्यूजपेपर पर लोग उनके या उनकी फिल्म के बारे में क्या सोचते हैं. उनके मुताबिक वो फिल्म के सक्सेसफुल या फ्लॉप होने का बोझ अपने ऊपर नहीं लेती और रिलेक्स होकर काम पर फोकस करने में विश्वास रखती हैं.

पति के प्रोड्क्शन में पहली बार फिल्म करेंगी विद्या, इंदिरा गांधी का रोल

फिलहाल उनके लिये साल की शुरूआत में ही एक अच्छी खबर आ चुकी है. सागरिका घोष की किताब इंदिरा: इंडियाज मोस्ट पावरफुल प्राइम मिनिस्टर में वे पूर्व महिला प्रधानमंत्री और सशक्त राजनीतिज्ञ इंदिरा गांधी का किरदार निभाएंगी.

Source : Agency