बिलासपुर
छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में दिन दहाड़े युवक का अपहरण कर फिरौती मांगने वाले आरोपियों को सिविल लाइन पुलिस ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है. पूरा मामला बिलासपुर शहर का है. दरअसल, उमरिया निवासी आशीष राजपूत बिल्हा महामाया राइस मिल में काम करता है. इसी क्रम में बीते 11 जनवरी की रात ड्यूटी करने के बाद मोबाइल में खराबी आने के कारण वह मोबाइल बनवाने के लिए अपनी बाइक से राजीव प्लाजा जा रहा था.

इसी क्रम में अज्ञात बदमाशों ने रास्ते पर मोटर साइकिल को अपनी गाड़ी से ठोकर मार दी, जिससे बाइक सवार युवक घायल हो गया. वहीं स्कोडा कार में सवार आरोपी कार की क्षतिपूर्ति राशि के लिए घायल युवक का इलाज कराने के बजाए पैसे देने को लेकर उस पर दबाव बनाते रहे. पैसे नहीं मिलने पर आरोपी कोरबा निवासी विशाल राय, जितेंद्र मिश्रा अपनी सफेद कलर की स्कोडा गाड़ी में घायल युवक को अपहरण कर रतनपुर ले गए.

इसके बाद आरोपियों ने अपनी गाड़ियों की क्षतिपूर्ति के लिए घायल के परिवार से करीब 10 हजार रुपए फिरौती मांगी. इतना ही नहीं उन्हें फोन कर अपना अकाउंट नंबर दे कर उसमें पैसे डालने के लिए दबाव बनाने लगे.

वहीं पीड़ित परिजनों ने मामले की शिकायत सिविल लाइन थाने में दर्ज कराई, जिसके बाद पुलिस ने शिकायत दर्ज कर दोनों आरोपियों को मौके पर दबिश देकर गिरफ्तार कर लिया. मामले में एसआई एन. के. बंजारे ने कहा कि दोनों आरोपियों को फिलहाल न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया है.

Source : Agency