अनुसंधानकर्ताओं ने HIV के इलाज के लिए एक ऐसा कैप्सूल बनाया है जिसकी एक खुराक लेने के बाद पूरे एक सप्ताह कोई और दवा नहीं लेनी पड़ेगी। अनुसंधानकर्ताओं ने बताया कि HIV के वायरस से लड़ने के लिए ली जाने वाली दवा की खुराक को निश्चित समय पर लेना आवश्यक होता है जिसका पालन करना आसान नहीं होता। लिहाजा इस तरह की कैपसूल विकसित होने से मरीजों को काफी राहत मिलेगी।


इस नई कैपसूल को अमेरिका के मैसचूसिट्स इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी (MIT) के अनुसंधानकताओं ने विकसित किया है। इसे इस तरह बनाया गया है कि मरीजों को सप्ताह में केवल एक बार इसे लेना होगा और सप्ताह भर में दवा धीरे धीरे शरीर में पहुंचती जाएगी। अनुसंधानकर्ताओं ने बताया कि यह कैपसूल केवल HIV के उपचार में ही मददगार नहीं है, बल्कि यह उन लोगों को भी संक्रमण से बचाने के लिए ली जा सकती है जिनके HIV से संक्रमित होने का खतरा अधिक है।

MIT के एक अनुसंधानकर्ता और ब्रिघम ऐंड विमेन्स हॉस्पिटल में बॉयोमेडिकल इंजिनियर जियोवान्नी त्रावेरसो ने कहा, समय पर दवा की खुराक न लेना HIV के उपचार और रोकथाम में सबसे बड़ी बाधा है लेकिन इस कैपसूल से इस बाधा को दूर में काफी मदद मिलेगी।

इस कैप्सूल की बनावट छह कोनों वाले एक सितारे की तरह है। इन कोनों में दवा भरकर इन्हें अंदर की ओर मोड़ कर बंद किया जा सकता है। कैपसूल खाने के बाद इन कोनों में से एक एक करके दवा निकलती रहती है। त्रावेरसो ने कहा, यह एक कैपसूल, दवाइयों का डिब्बा रखने की तरह है। अब आपके पास एक कैपसूल में सप्ताह के हर दिन के लिए चैंबर है।

Source : Agency